Saturday , December 15 2018
Home / देश / भारत की बेटी ने 6 घंटे में गाया 102 गाने, बना विश्व रिकॉर्ड

भारत की बेटी ने 6 घंटे में गाया 102 गाने, बना विश्व रिकॉर्ड

नई दिल्ली। केरल के कन्नूर में जन्मी भारत कि बेटी सुचेता सतीश ने एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाया हैं जो कि दुबई के एक संगीत कार्यक्रम में 6 घंटे 20 मिनट के दौरान गा कर एक नया विश्व कीर्तिमान स्थापित किया। इस रिकॉर्ड ने भारतीय समाज को दुबई और दुनिया में गर्व महसूस कराया ।

गणतंत्र दिवस समारोह के अवसर पर दुबई में भारतीय वाणिज्य दूतावास सभागार में एक ओपचारिक उद्घाटन समारोह के बाद, सुचेता सतीश ने इंडियन हाई स्कूल में पढ़ने वाले 12 साल के 7 अन्य छात्रों के सामान ही विभिन्न भाषाओँ में गीतों कि रचना की । सुचेता ने 4:10 बजे गाना शुरू कर दिया और लगातार 10:30 बजे तक गाया । इस कार्यक्रम में स्थित शीर्षक संगीत के परे, सुचेता सतीश ने लगभग कई भाषाओँ में गाया, यूरोपियन भाषा, 25 भारतीय भाषाओँ में, कई दक्षिण अमिरीकी भाषाओँ और दक्षिण एशियाई भाषा में भी गाया गया ।

उन्होंने एक ऐसा देशभक्ति गीत चुना जो दिन को समाप्त करने का सच्चा भारतीय रूप का प्रतीक बन गया था । दर्शको में डॉक्टरों, भारतीय राजनायिको, उनके दोस्तों, शिक्षको और शुभचिंतको के अलावा सामान्य जनता शामिल थी । उसकी उपलब्धि पर सुचेता सतीश को बधाई देते हुए दुबई में कौंसिल जनरल ने कहा, “यह वाकई एक अविश्वसनीय उपलब्धि हैं । आपने पूरे भारतीय समुदाय को गोरवान्वित किया हैं और यह रिकॉर्ड गणतंत्र दिवस पर एक बढ़िया उपहार हैं ।”

सुचेता के पिता डॉ टी सी सतीश ने बताया कि सुचेता ने बहुत छोटी उम्र से गाना गाते हुए बहुत रूचि दिखाई हैं । यह सब केवल कुछ साल पहले शुरू हुआ जब मेरे जापानी मित्रो में से एक घर आया था और एक जापानी गीत गाया जो मेरी बेटी को बहुत आकर्षक लगा । उसने गाने को सीखा और रिकॉर्ड किया और अगली सुबह मेरे जापानी मित्र को वापस भेज दिया । यह गीत सही सुर में गाया गया था और उसके बाद मेरे मित्र ने इसे फेसबुक पर पोस्ट किया और जापानी लोगो द्वारा इसकी बहुत सराहना हुई । यही से सुचेता कि यात्रा शुरू हुई और उसके बाद उसने कभी वापस मुड़कर नहीं देखा । उसने यूट्यूब देखकर अलग अलग भाषाओ में गाना शुरू कर दिया और यह उसका एक जूनून बन गया । कभी कभी वह 2 घंटे से भी कम समय में एक गाना सिख जाती हैं । उसके पिता ने कहा, “ हालाँकि उसे अरमेनियाई और आलुक गीत विशेष रूप से पसंद हैं पर उसके अरबी और तुर्की के गीतों का भी आनंद बखूबी लिया जा सकता है ।

भारत के कौंसिल जनरल, एच।ई श्री विपुल से पुरस्कार प्राप्त करने के बाद, शक्तिशाली तालियाँ के बीच सुचेता ने यु।ए।ई। के प्रधानमंत्री एच।एच। शेख मोहम्मद बिन रशीद अल मक्तोम और भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और विश्व के सभी भारतीयो और यु।ए।ई। में रहने वाले सभी विभिन्न राष्ट्रीयताओं के लोगो को पुरस्कार समर्पित किया । सुचिता ने युवाओं से आग्रह किया कि वे तम्बाकू, शराब और नशीली दवाओं से अधिक स्थान पाने के लिए संगीत या खेल का उपुयोग करे ।

सुचेता भारतीय श्रमिक राहत समिति (IWRC) के सहयोग से उनके अभियान के भाग के रूप में श्रमिको के आवास का दौरा भी करती हैं औरयहाँ तक कि इन बुरी आदतों को छोड़ने के लिए मजदूरों से भी प्रतिज्ञा दिलाती हैं । सुचेता सुमिथा अयिलिआथ और डॉ। टी।सी। कि बेटी हैं जो दुबई में त्वचा विशेषज्ञ हैं और सुशांत सतीश कि बहन हैं । 10 फ़रवरी को दुबई ओपेरा हाउस पर सामुदायिक स्वागत समारोह के दौरान, भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के सम्मान में सहस्त्राब्दी पल के नाम पर प्रदर्शन करने वाले दो कलाकारों में से एक थी सुचेता । इंडियन बुक ऑफ़ रिकॉर्ड ने सुचेता का नाम अपनी पुस्तक में दर्ज किया और डॉ। बिस्वरूप चौधरी, इंडियन बुक ऑफ़ रिकॉर्ड के संपादक ने कहा कि यह हमारे देश के लिए गर्व कि बात हैं और विशेष रूप से जब एक युवा प्रतिभाशाली व्यक्ति तम्बाकू, शराब और नशीली दवाओ के खिलाफ अभियान चलाएगा तो यह हमारे समाज को मादक पदार्थो कि लत से मुक्त करने में मदद करे

About Web Team

Check Also

क्या “उरी” में सर्जिकल हमले से जुड़े अनकहे और अनसुने राज़ से उठेगा पर्दा?

आर.एस.वी.पी की आगामी फ़िल्म “उरी” ने अपनी प्रत्येक घोषणा के साथ फ़िल्म के प्रति दर्शकों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *