Saturday , March 23 2019
Home / राज्य / इलाहाबाद हाइकोर्ट का आदेश: यूपी के मदरसों में राष्ट्रगान गाना अनिवार्य
PC: KODMEDIA

इलाहाबाद हाइकोर्ट का आदेश: यूपी के मदरसों में राष्ट्रगान गाना अनिवार्य

इलाहाबाद : इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने योगी सरकार के उस फैसले पर अपनी मुहर लगा दी है, जिसमें राज्य सरकार ने सारे  मदरसों में राष्ट्रगान को गाना जरुरी कर दिया था.

उच्च न्यायालय के निर्णय के बाद अब यूपी के सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाना अनिवार्य हो गया है. इसी वर्ष छह सितंबर को राज्य की योगी सरकार ने हर मदरसे में राष्ट्रगान गाने और तिरंगा फहराने का फरमान सुना दिया था.

इसके विरुद्ध याचिकाकर्ता अलाउल मुस्तफा ने मदरसों को राष्ट्रगान गाने से छूट की मांग को लेकर उच्च न्यायालय में याचिका दाखिल की थी, जिसे खारिज कर दिया गया.

इलाहाबाद उच्च न्यायालय के चीफ जस्टिस डीबी भोसले और जस्टिस यशवंत वर्मा की खण्ड पीठ ने निर्णय दिया कि मदरसों को राष्ट्रगान गाने से छूट नहीं है. राष्ट्रगान और राष्ट्रध्वज का सम्मान करना संवैधानिक कार्य है. जिसे जाति, धर्म और भाषा के आधार पर भेद नहीं किया जा सकता.

इससे पहले स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मदरसों में ध्वजारोहण और तिरंगा फहराने का कार्यक्रम करने और उसकी रिकॉर्डिंग करने के आदेश को लेकर भी विभिन्न दलों ने अपना विरोध  प्रकट किया था जिससे विभिन्न समुदायों में बीच मतभेद भी हो गये थे.

तब मुस्लिम संगठनों ने यूपी की योगी सरकार पर मुस्लिमों की देशभक्ति पर शक करने का आरोप मढ़ दिया. इससे पहले मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने यूपी सरकार से जवाब भी माँगा था.

राज्य सरकार के फरमान के बाद इस बार स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर यूपी के मदरसों में तिरंगा फहराया गया.

योगी सरकार ने अनुदान प्राप्त मदरसों को स्वतंत्रता दिवस मनाने के आदेश दिये थे, जिसका असर भी हमें देखने को मिला था. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में तिरंगा फहराकर स्वतंत्रता दिवस की 71वीं सालगिरह मनायी गयी थी.

About RITESH KUMAR

Check Also

फिल्म रिव्यू; इतिहास की सबसे बहादुरी से लड़ी गई सारागढ़ी की लड़ाई के बारे में जानने के लिए “केसरी” को मिस न करें

  अनुराग सिंह के डायरेक्शन में बनी फिल्म ‘केसरी’ में अक्षय कुमार ने एक बार …