Thursday , January 24 2019
Home / क्राइम / गोंडा: इलाहाबाद बैंक के मैनेजर कपिल छत्रपाल ने की लाखों की हेरा-फेरी, अब सलाखों के पीछे

गोंडा: इलाहाबाद बैंक के मैनेजर कपिल छत्रपाल ने की लाखों की हेरा-फेरी, अब सलाखों के पीछे

रिपोर्टर: सुनील वर्मा

गोंडा (सुनील वर्मा): बैंक की अच्छी खासी नौकरी भी उसके अंधाधुंध खर्चों को पूरा कर पाने में नाकाम रही तो उसने अपराध का रास्ता अपना लिया। जी ये कहानी किसी फिल्म की नहीं बल्कि 48 लाख के गबन में पकड़े गए इलाहाबाद बैंक के एक मैनेजर की है। पूछताछ में आरोपित मैनेजर ने सट्टेबाजी में उधारी की बात भी स्वीकार की है।

झांसी के अंतिया ताल मेहंदीबाग निवासी कपिल छत्रपाल इलाहाबाद बैंक के जोनल कार्यालय में प्रबंधक के पद पर तैनात रहा। बताया जा रहा है कि उन्होंने अपने अधिकारों के गलत प्रयोग कर बैंक के कई खातों से लगभग 48 लाख रुपये का गबन कर डाला।

पुलिस की पूछताछ में कुछ चौंकाने वाले तथ्य भी सामने आये हैं। पता चला कि आरोपित बैंक मैनेजर सट्टेबाजी का भी शौकीन था। इसी के कम उम्र में ही अपने शौक को पूरा करने के लिए नया शार्टकट अपनाया।

लगभग तीन वर्ष पूर्व ही वो मैनेजर के पद प्रमोट हुआ था। जोनल आफिस में कार्यरत रहते हुए कपिल अन्य शाखाओं में भी कामकाज के सिलसिले में जाया करता था। बैंक अधिवक्ता विवेकमणि श्रीवास्तव ने बताया कि मुख्य शाखा प्रबंधक की ओर से एफआईआर दर्ज कराई गई है।

बड़ी होशियारी से जुटाया था डाटा:

आरोपित मैनेजर कपिल छत्रपाल को अन्य शाखाओं में बैंक प्रबंधक के छुट्टी पर जाने या न रहने पर कामकाज देखने के लिए भेजा जाता था। इसी दौरान कपिल ने खासकर ग्रामीण क्षेत्र ऐसे लोगों का डाटा तैयार किया जिनके खाते में ज्यादा पैसे रहते हों।

केवल लाखों में ही उड़ाये पैसे :

बड़े ही शातिराना अंदाज में काम करते हुए अभी तक सामने आये खातों से 48 लाख रुपये उड़ा लिये हैं। हर खाते से बड़ी धनराशि को ही ट्रांसफर किया गया। अपनी आईडी और पासवर्ड से मनमाफिक खातों में पैसा भेज दिया। खाताधारकों की शिकायत पर शुरू हुई पडताल में प्रबंधक के खेल का खुलासा हुआ।

गोंडा जनपद के परसपुर की इलाहाबाद बैंक की शाखा के खाताधारकों के खाते से पैसे गायब मिले हैं। यहां के रामकिशोर के 5 लाख, सीताराम के 4 लाख, शिवकन्या देवी के 4 लाख 12 हजार, राजदुलारी 5 लाख 45 हजार, बाबादीन 5 लाख 65 हजार, सुशीला देवी 6 लाख 10 हजार, शमसुलनिशा 3 लाख 56 हजार व ओमप्रकाश 8 लाख 35 हजार रुपये निकल गये।

अभी हो सकते हैं और भी खुलासे :

इतने बड़े पैमाने पर हुए फर्जीवाड़े के बाद इलाहाबाद बैंक का प्रबंधन सकते में है। बैंक के एजीएम एएस हीरा ने बताया कि जिले की अन्य शाखाओं से पड़ताल कराई जा रही है।

About RITESH KUMAR

Check Also

प्रियंका गांधी करेंगी इंदिरा गांधी सा कमाल, वापसी कर लेगी कांग्रेस

नई दिल्ली। प्रियंका गांधी…एक ऐसा चेहरा.. जिसके राजनीति में आने के कयास लंबे समय से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *