Sunday , February 24 2019
Home / राज्य / अमृतसर हादसा: जागी पंजाब सरकार, धार्मिक आयोजनों के लिए बनाएगी गाइडलाइन

अमृतसर हादसा: जागी पंजाब सरकार, धार्मिक आयोजनों के लिए बनाएगी गाइडलाइन

अमृतसर: पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने किसी भी हादसे को टालने के लिए शनिवार को गृह सचिव एनएस कलसी को राज्य में धार्मिक और सामाजिक सभाओं के आयोजन के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश तैयार करने का निर्देश दिया. यह दिशा-निर्देश अमृतसर में जोड़ा फाटक के निकट शुक्रवार की शाम को दशहरा मेला आयोजन के दौरान हुए हादसे के एक दिन बाद जारी किए गए हैं. एक अधिकारिक बयान में बताया गया है कि मुख्यमंत्री द्वारा जारी निर्देशों के मुताबिक दिशा-निर्देशों में किसी भी अवसर पर राज्य के किसी भी हिस्से में ऐसी घटनाओं/सभाओं को आयोजित करने के लिए नियमों और विनियमों को स्पष्ट रूप से परिभाषित करने के लिए कहा गया है.

सिंह ने गृह सचिव से दिवाली के दौरान सुरक्षा नियमों और दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करने के लिए पटाखों की बिक्री और भंडारण के लिए तत्काल सलाह जारी करने के लिए कहा है. अमृतसर ट्रेन हादसे को गंभीरता से लेते हुये मुख्यमंत्री ने यह स्पष्ट किया है कि इस मामलों में कोई ढिलाई नहीं दी जाएगी. उन्होंने कहा कि भविष्य में ऐसी घटना दोबारा ना हो यह सुनिश्चित करने के लिए शुक्रवार के दुखद हादसे के अपराधी की पहचान की जाएगी.

बता दें कि अमृतसर में हुए दर्दनाक हादसे के बाद शनिवार को पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह हादसे में पीड़ितों को देखने पहुंचे और प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने हादसे पर दुख जताया. उन्होंने कहा कि रेलवे अपने स्तर पर जांच कर रहा है. हादसे की मस्जिट्रेट जांच होगी, जिसकी रिपोर्ट चार हफ्तों में सौंपे जाने के आदेश हैं. उन्होंने कहा कि कमिश्नर इस घटना की जांच करेंगे. जांच पर पत्रकारों के सवाल पर वो भड़क गए और कहा, ‘जो सवाल आप लोग मेरे से कर रहे हैं, वो मस्जिट्रेट से करो’.

शनिवार सुबह दिल्ली से अमृतसर पहुंचें. अस्पताल में जख्मी लोगों के हालचाल पूछने के बाद अमरिंदर सिंह ने मीडिया से बात की और बताया कि ये बहुद ही दर्दनाक घटना है. उन्होंने कहा इस हादसे के बाद पूरे देश की संवेदनाएं पीड़ितो के परिजनों के साथ हैं. उन्होंने कहा कि कुछ शवों को छोड़कर सभी शवों की पहचान हो चुकी है. मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि ये वक्त तू-तू मैं-मैं का नहीं है. इस वक्त जरूरी है की घटना की जांच हो, ताकि मुख्य वजह का पता चल सके.

पत्रकारों ने उनसे घटना के बाद देरी से पहुंचने पर भी सवाल किए. उन्होंने तीखे अंदाज में कहा, ‘मैं इजरायल जा रहा था. दिल्ली से वापस लौटा हूं, इसलिए देरी हुई है’. आपको बता दें कि घटना के 15 घंटों के बाद सीएम अमरिंदर सिंह मौके पर पहुंचे और पीड़ितों का हाल जाना.

इससे पहले रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने भी घटना को दुखद बताया था. उन्होंने बताया कि हादसे की जानकारी के बाद वो घटनास्थल पर पहुंचे. मनोज सिन्हा ने कहा कि इस मामले में रेलवे की चूक नहीं है. उन्होंने कहा, ‘ रेलवे को ऐसे किसी आयोजन की जानकारी नहीं दी गई थी. उन्होंने कहा कि हादसा दुखद है और इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए.

About RITESH KUMAR

Check Also

आदिवासियों की समस्या को उजागर करती टी-सीरीज की शार्ट फिल्म ” जीना मुश्किल है यार” विश्व फ़िल्मफेस्टिवल में  

   आदिवासियों की समस्या को उजागर करती शार्ट फिल्म ‘ जीना मुश्किल है यार’ का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *