Saturday , December 15 2018
Home / मनोरंजन / कभी न सूंघ पाने वाले लड़के की चमत्कारी कहानी है ‘स्निफ’

कभी न सूंघ पाने वाले लड़के की चमत्कारी कहानी है ‘स्निफ’

नई दिल्ली। तारे जमीं पे’ (उनका नाम बाद में बतौर निर्देशक हटा दिया गया था) के अलावा ‘स्टेनली का डिब्बा’ और ‘हवा हवाई’ जैसी बच्चों की फिल्मों के बाद निर्देशक अमोल गुप्ते की नई फिल्म ‘स्निफ’ रिलीज के लिए तैयार है। इसी 25 अगस्त को रिलीज होने जा रही ट्रिनिटी फिल्म्स के बैनर तले बनी इस फिल्म को बच्चों के लिए बनी सुपर हीरो वाली फिल्म माना जा रहा है, जो एक असली घटना के प्रेरित बताई जाती है। निर्माता अजीत ठाकुर की अमोल गुप्ते निर्देशित यह फिल्म बेगुनाही, रहस्य और वीरता से भरी हुई है। इस फिल्म में पंजाब के बाल कलाकार खुश्मित गिल ने सुपर हीरो की मुख्य भूमिका निभाई है। फिल्म का यह मुख्य किरदार अपने साथियों के साथ जासूसी करके कई बड़े केस हल करने में मदद करता है। फिल्म का टाइटल ‘स्निफ’ इसलिए रखा गया है, क्योंकि खुश्मित के किरदार को चीजों को सूंघकर असलियत पता लगाने का वरदान मिला हुआ है। इसी फिल्म के प्रमोशन के सिलसिले में अमोल गुप्ते अपनी फिल्म के लीड कलाकार खुश्मित गिल के साथ पिछले दिनों दिल्ली में थे। होटल राॅयल प्लाजा में आयोजित प्रेस काॅन्फ्रेंस में फिल्म के निर्माता-निर्देशक एवं इसके सुपरहीरो ने फिल्म से जुड़ी कई बातें साझा कीं।

मीडिया से बातचीत में अमोल गुप्ते ने बताया कि ‘यह फिल्म ऐसे बच्चे की कहानी है जिसे, एक सुपर पावर मिली हुई है, यानी वह चीजों को सूंघकर उसकी असलियत का पता लगा लेता है। इस फिल्म को पूरा करने के लिए लगभग एक वर्ष का समय लगा। यह फिल्म वीरता के बारे में है।’ खास बात यह है कि निर्देशक अमोल गुप्ते हमेशा ही बच्चों संग नए और अनोखे विषय के साथ प्रेक्षकों के सामने आए हंै। साथ ही अपनी फिल्मों में वह अभिनय भी करते रहे हैं। ‘स्निफ’ में भी वे निर्देशक के साथ अभिनेता के तौर पर नजर आएंगे, क्योंकि फिल्म में वे एक मेहमान भूमिका में ही सही, परंतु महत्वपूर्ण किरदार में नजर आएंगे। फिल्म में उन्होंने जो किरदार निभाया है, वह भले ही मेहमान की भूमिका है, लेकिन यही किरदार फिल्म की कहानी को और दिलचस्प बनाते हैं। खास बात यह भी कि इस फिल्म में अमोल गुप्ते गणपति आरती करते भी नजर आएंगे। इस संबंध में उन्होंने कहा कि ‘फिल्म में बच्चों के साथ काम करने का यह बहुत अच्छा अनुभव था, उन्होंने मुझे बहुत कुछ सिखाया और वास्तव में मैं बच्चों के साथ सुरक्षित महसूस कर रहा हूं।’ इस मूवी के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, ‘इस फिल्म में एक बड़ा सबक है। ‘स्निफ’ एक बहुत ही साफ-सुथरी और मनोरंजक फिल्म है। इससे बच्चे ही नहीं, बल्कि वयस्क भी खुद को उस तरह जोड़ लेंगे, जैसे कि एक बाल-दर्शक, क्योंकि यह एक पूर्ण परिवारिक फिल्म है।’

फिल्म में सुपरहीरो का किरदार निभाने वाले पंजाब के बाल कलाकार खुश्मित गिल ने भी मीडिया के साथ अपने अनुभव को साझा किया। उन्होंने कहा, ‘मैंने कई विज्ञापनों और धारावाहिकों में काम किया है, लेकिन यह पहली बार है, जब मैं फिल्म में सीसा के रूप में लीड किरदार निभा रहा हूं। मुझे यह मौका देने के लिए मैं अमोल सर का आभारी हूं।’ फिल्म में सुपरपावर के बारे में पूछने पर उन्होंने बहुत मासूमियत से कहा, ‘मैं चाहता हूं कि भगवान ने मुझे वास्तविक जीवन में भी ऐसी ही शक्ति दे, जो मुझे फिल्म में मिली है।’

जहां तक ‘स्निफ’ की कहानी का सवाल है, तो इस फिल्म के केंद्र में भी एक छोटा बच्चा है, लेकिन इस बच्चे की समस्या यह है कि वह सूंघ नहीं सकता और इसके चलते कैसे उसके सारे काम खराब हो सकते हैं, यही इसमें दिखाया गया है। लेकिन, लगातार ऐसा नहीं होता, क्योंकि एक साइंस लैब में हुए हादसे में इस बच्चे को सूंघने की शक्ति मिल जाती है, लेकिन यह शक्ति ‘सुपरशक्ति’ बन जाती है। इसके बाद यह बच्चा अपनी सूंघने की सुपरशक्ति से 2 किलोमीटर की दूरी तक की चीजें सूंघने लगता है, वह डर, प्रेम, क्रोध जैसे भावों को भी सूंघने लगता है और चर्चा का विषय बन जाता है। हालांकि इस फिल्म की कहानी काल्पनिक है और इसके केंद्र में एक बच्चा है, लेकिन ये बेहद कॉम्प्लेक्स स्ट्रक्चर वाली फिल्म है। ‘स्निफ’ को भारत की पहली बच्चों की एक्शन एडवेंचर फिल्म माना जाता है।

About KOD MEDIA

Check Also

ब्वॉयफ्रेंड हर्ष के साथ ‘मिस इंडिया’ तन्वी व्यास भी दांपत्य सूत्र में बंधी

आजकल बॉलीवुड में शादी का मौसम चल रहा है। ऐसे में हमारा मनोरंजन उद्योग भी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *