Wednesday , December 19 2018
Home / देश / चारा घोटाला: एक और मामले में 42 आरोपियों पर फैसला 9 अप्रैल को

चारा घोटाला: एक और मामले में 42 आरोपियों पर फैसला 9 अप्रैल को

दुमका कोषागार से लगभग 34 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से जुड़े चारा घोटाले के एक अन्य मामले में 42 आरोपियों की किस्मत का फैसला नौ अप्रैल को लिखा जाएगा। यह चारा घोटाले के 51वें मामले में फैसला होगा। सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत ने चारा कांड संख्या आरसी 45ए/96 मामले में सोमवार को दोनों पक्षों की अंतिम दलीलें सुनने के बाद फैसले की तारीख नौ अप्रैल निर्धारित की। मामले में तत्कालीन क्षेत्रीय निदेशक डॉ. ओपी दिवाकर समेत 16 पशुपालन पदाधिकारी एवं आपूर्तिकर्ता त्रिपुरारी मोहन प्रसाद समेत 36 आपूर्तिकर्ता शामिल हैं।

सीबीआई के विशेष लोक अभियोजक शिव कुमार काका ने बताया कि वर्ष 1991-92 एवं वर्ष 1995-96 के बीच आवंटन की कई गुणा अधिक राशि की निकासी की गयी थी। मामले में सीबीआई ने शुरु  में कुल 72 आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। आरोप गठन वर्ष 2004 में 60 आरोपियों के खिलाफ किया गया था। सुनवाई के दौरान 14 आरोपियों का निधन हो गया। दो अभियुक्तों ने निर्णय पूर्व दोष स्वीकार कर लिया था।

वर्तमान में तीन महिला समेत कुल 42 आरोपी ट्रायल फेस कर रहे हैं। मामले का एक आरोपी अब तक फरार है। एक का मामला हाइकोर्ट से क्वैस हो गया था। इस मामले में सीबीआई की ओर से अदालत में 197 लोगों की गवाही दर्ज की गई, इसके अलावा बचाव की ओर से 3 गवाह प्रस्तुत किये गये। इस मामले में लालू प्रसाद या कोई अन्य राजनीतिक नेता नहीं हैं। यह मामला सिर्फ पशुपालन विभाग के अधिकारी और आपूर्तिकर्ताओं से संबंधित है। घोटाले के इस मामले में पशुपालन विभाग के अधिकारी और आपूर्तिकर्ता ही ट्रेन फेस कर रहे हैं।

ट्रायल फेस कर रहे आरोपियों के नाम

ट्रायल फेस कर रहे आरोपियों में अजीत कुमार सिन्हा, अनिल कुमार सिन्हा, अरुण कुमार, अजीत कुमार वर्मा, विमल कांत दास, वेणु झा, विनोद कुमार झा, दयानंद कश्यप, दिनेश कुमार सिन्हा, फ्रेडी केरकेट्टा, दिनेश्वर प्रसाद शर्मा, गोपीनाथ दास, हरेंद्र नाथ वर्मा, हरीश चंद्र अग्रवाल, हरीश खन्ना, कृष्ण कुमार प्रसाद, कृष्ण मुरारी साह, लालमोहन प्रसाद, मनोरंजन प्रसाद, मनोज कुमार श्रीवास्तव, मोहिंदर सिंह बेदी, मधु मेहता, नंदकिशोर प्रसाद, ओमप्रकाश दिवाकर, पंकज मोहन भोई, डॉ. पितांबर झा, डॉ. प्रकाश कुमार लाल, डॉ. रघुनंदन प्रसाद, डॉ. राधा मोहन मंडल, राकेश कुमार अग्रवाल, रामअवतार शर्मा, रवि कुमार सिन्हा, राकेश गांधी उर्फ सुनील गांधी, राजन मेहता, शशि कुमार सिन्हा, सर्वेंद्र कुमार दास, संजय शंकर, संजय अग्रवाल, सुनील कुमार सिन्हा, सुशील कुमार सिन्हा, सरस्वतीचंद्र और त्रिपुरारी मोहन प्रसाद शामिल हैं।

ट्रायल के दौरान 14 का निधन

जिन 14 अभियुक्तों का निधन हुआ। उसमें डॉक्टर शेष मुनी राम. डॉक्टर बजरंग देव नारायण सिन्हा, डॉक्टर सत्यनारायण सिंह, डॉक्टर डॉ इंद्रासन सिंह, डॉ मोहम्मद वसीम उद्दीन, डॉ विनय कुमार, बाल मुकुंद झा, कालिका प्रसाद सिन्हा, ओम प्रकाश शर्मा, चंद्रशेखर दुबे, ओम प्रकाश गुप्ता, महेंद्र प्रसाद, अजय कुमार सिन्हा और डॉ. अजीत कुमार सिन्हा शामिल हैं।

About KOD MEDIA

Check Also

जीरो” में दिखेगी शाहरुख खान और जीशान अयूब की दिल छू लेने वाली दोस्ती

आनंद एल राय के निर्देशन में बनी फिल्म ‘जीरो’ में शाहरुख खान और जीशान अयूब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *