Wednesday , January 24 2018
Home / देश / नीति आयोग के उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने दिया इस्तीफा
PC: Thehindu

नीति आयोग के उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली। नीति आयोग के उपाध्यक्ष और अर्थशास्त्री अरविंद पानगडिय़ा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना त्यागपत्र प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और नीति आयोग के अध्यक्ष नरेंद्र मोदी को भेजकर 31 अगस्त तक पदमुक्त करने का अनुरोध किया है।

पदमुक्त होने के बाद पानगडिय़ा कोलंबिया यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर के अपने पद पर फिर सेवा देंगे। इनके जाने के बाद अब संभावित दावेदारों में मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यम, योजना के आयोग के पूर्व सदस्य नरेंद्र जाधव और पूर्व नौकरशाह एनके सिंह हैं।

 

पानगडिय़ा के कार्यकाल में जेनेटिकली मोडिफाइड फसलों की सिफारिश की किए जाने से संघ परिवार के सहयोगी संगठन अपनी आपत्ति जता चुके थे। केंद्र की मोदी सरकार ने तत्कालीन योजना आयोग को समाप्त कर पहली जनवरी, 2015 को एक प्रस्ताव के माध्यम से नीति आयोग की स्थापना की थी।

आखिर क्यों जरुरी है नीति आयोग

आपको बता दें कि मोदी सरकार के तीन वर्षो में नीति आयोग का एक योगदान रोल रहा है। अभी तक अपने कार्यकाल में मोदी सरकार द्वारा बदलाव की इस मुहिम का दारोमदार नीति आयोग को दिया गया जिसे सरकार ने योजना आयोग की जगह लेने के लिए स्थापित किया। इस नीति आयोग को नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर ट्रांस्फॉर्मिंग इंडिया (NITI) नाम देते हुए केन्द्रीय कैबिनेट ने 1 जनवरी 2015 को स्थापित किया था।

केन्द्र सरकार के लिए नीतियों का निर्माण करने के लिए नीति आयोग ने 3 अहम उद्देश्यों को सामने रखा था- डिजिटल इंडिया, कोऑपरेटिव फेडरलिज्म, महिलाओं को विकास की मुख्यधारा में लाना, अर्थात ‘नीति आयोग का उद्देश्य है ऐसे सुदृढ़ राज्यों का निर्माण करना जो आपस में एकजुट होकर एक सुदृढ़ भारत का निर्माण करें। राज्यों और केंद्र की ज्ञान प्रणालियां विकसित करना।’

कौन हैं अरविंद पनगढ़िया?

62 साल के पनगढ़िया भारतीय-अमेरिकी अर्थशास्त्री हैं। वह कोलंबिया विश्विद्यालय में प्रोफेसर रहे हैं। वह एशियाई विकास बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री और कालेज पार्क मैरीलैंड के अंतरराष्ट्रीय अर्थशास्त्र केन्द्र में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर और सह-निदेशक रह चुके हैं। प्रिंसटोन यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र में पीएचडी हासिल करने वाले पानागढ़िया विश्व बैंक, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष, विश्व व्यापार संगठन और व्यापार एवं विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (एंकटाड) में भी विभिन्न पदों पर काम कर चुके हैं।

About Team Web

Check Also

Election commission

बिहार: 3 सीटों पर उपचुनाव के लिए टिकट की मारामारी शुरू, सबसे ज्यादा NDA में खींचतान