Sunday , February 24 2019
Home / देश / अयोध्या में राम मंदिर निर्माण पर सुप्रीम कोर्ट से पहले ही सहमति?

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण पर सुप्रीम कोर्ट से पहले ही सहमति?

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मुद्दा

लखनऊ। ये मामला सुप्रीम कोर्ट में अंतिम चरण में पहुंच गया है, लेकिन लगता है कि ये मामला कोर्ट के निर्णय से पहले ही निपट सकता है। इस मामले में श्री श्री रविशंकर के साथ तमाम पक्षों की बातचीत हुई है, जिसमें ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के पदाधिकारी भी शामिल रहे।

श्री श्री रविशंकर के साथ चर्चा में बाबरी मस्जिद-श्रीराम जन्मभूमि मुकदमे के मुख्य पक्षकार सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष जुफर फारुकी और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य मौलाना सलमान नदवी भी शामिल हुए।

जुफर फारूकी उस वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष हैं, जिसने 1951 से इस बाबरी मस्जिद पर दावे की लड़ाई लड़ रहा। लेकिन फारूकी भी अदालत के बाहर समझौते के लिए तैयार हैं। श्रीश्री से बातचीत में उन्होंने कहा कि अगर सभी पक्ष समझौता चाहें तो मैं पहले से उनके साथ हूं। सलमान नदवी उस पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रभावशाली सदस्य हैं जिसने प्रस्ताव पारित किया है कि मस्जिद के पक्षकार किसी तरह के समझौते में शामिल नहीं होंगे।

गौरतलब है कि अभी मस्जिद के लिए पैरवी करने वालों में ज्यादातर शिया उलेमा रहे हैं। इस पर कुछ लोग यह भी कहते रहे हैं आम तौर पर शिया मंदिर बनाने के पक्ष में हैं लेकिन सुन्नी तैयार नहीं है। पर अब सुन्नी लोग भी इस मामले के निपटारे के लिए सामने आ रहे हैं।

(उद्गम :क्या अदालत के बाहर अयोध्या मसला सुलझ सकता है? दिखने लगे हैं आसार )

About RITESH KUMAR

Check Also

आदिवासियों की समस्या को उजागर करती टी-सीरीज की शार्ट फिल्म ” जीना मुश्किल है यार” विश्व फ़िल्मफेस्टिवल में  

   आदिवासियों की समस्या को उजागर करती शार्ट फिल्म ‘ जीना मुश्किल है यार’ का …