Wednesday , April 24 2019
Home / देश / बिहार : NDA में सीट बंटवारे का फॉर्मूला तय 17-17 सीट पर लड़ेगी BJP-JDU, LJP को मिली 6 सीट

बिहार : NDA में सीट बंटवारे का फॉर्मूला तय 17-17 सीट पर लड़ेगी BJP-JDU, LJP को मिली 6 सीट

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर बिहार एनडीए में सीट शेयरिंग पर बीते कई दिनों से जारी कलह पर आज अंतत: विराम लग गया. रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा के 10 दिसंबर को एनडीए से अलग होने और लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान के दबाव के बाद अखिरकर बिहार एनडीए में सीट बंटवारे के फॉर्मूला पर आम सहमति बन गयी. सीट बंटवारे को लेकर रविवार को दिल्ली में एनडीए के प्रमुख नेताओं की बैठक के बाद सीट शेयरिंग के फॉर्मूले की औपचारिक घोषणा कर दी गयी. इसके तहत भाजपा और जदयू 17-17 सीटों पर और रामविलास पासवान की लोजपा 6 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

वहीं सीट बंटवारे के बाद हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीतीश कुमार ने बीजेपी को धन्यवाद करते हुए कहा कि पिछली बार 40 में से 32 सीट हमने जीती थी, लेकिन इस बार 2009 से भी ज्यादा सीटें एनडीए को मिलेगी. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम बिहार के विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं. इसके साथ ही राम मंदिर मुद्दे पर नीतीश कुमार ने कहा कि मामला कोर्ट में है और कोर्ट के जरिए ही इस मुद्दे का हल होना चाहिए.

बढ़ते विवाद के बीच लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान ने कहा था कि हम छोटी पार्टी हैं. हमें तैयारी के लिए समय चाहिए. इसलिए हम चाहते हैं कि यह मामला जल्द से जल्द सुलझ जाये. इससे पहले मंगलवार को लोजपा के नेता चिराग पासवान ने दो ट्वीट लीख कर अपना रुख साफ किया. चिराग ने अपने पहले ट्वीट में लिखा है, गठबंधन की सीटों को लेकर कई बार भारतीय जनता पार्टी के नेताओं से मुलाकात हुई, परंतु अभी तक कुछ ठोस बात आगे नहीं बढ़ पायी है. इस विषय पर समय रहते बात नहीं बनी तो इससे नुकसान भी हो सकता है. चिराग पासवान ने अपने एक अन्य में ट्वीट में लिखा, ‘टीडीपी और आरएलएसपी के एनडीए गठबंधन से जाने के बाद यह गठबंधन नाजुक मोड़ से गुजर रहा है. ऐसे समय में भाजपा गठबंधन में फिलहाल बचे हुए साथियों की चिंताओं को समय रहते सम्मानपूर्वक तरीके से दूर करें.’

जिसके बाद रामविलास पासवान के भाई और उनकी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस ने बुधवार को पटना में बकायदा पत्रकार वार्ता कर बीजेपी को 31 दिसंबर तक सीट शेयरिंग का काम पूरा कर लेने की चेतावनी दी थी. पारस ने साफ कर दिया कि उनकी पार्टी को 7 सीटों में एक भी कम मंजूर नहीं है. पशुपति पारस ने कहा कि बीते चार सालों में पार्टी का विस्तार हुआ है और इसके नेताओं की लोकप्रियता भी बढ़ी है. इसलिए हम बिहार के साथ ही झारखंड और उत्तर प्रदेश में भी लोकसभा चुनाव में सीटों की मांग करते हैं. इसके साथ ही चिराग पासवान के चाचा और बिहार सरकार में मंत्री पशुपति कुमार पारस ने अपने भतीजे के ट्वीट को बिल्कुल सही बताया था.

About MD MUZAMMIL

Check Also

आर.जे अमित द्विवेदी बने अंतरराष्ट्रीय मानव अधिकार मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष

  एफ.एम रेनबो,107.1 एफ.एम में अपनी आवाज से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध करने वाले आर.जे अमित …