Sunday , February 24 2019
Home / मनोरंजन / देश के पहले क्रिटिक्स चॉइस शॉर्ट फिल्म अवॉर्ड्स के विजेताओं की हुई घोषणा

देश के पहले क्रिटिक्स चॉइस शॉर्ट फिल्म अवॉर्ड्स के विजेताओं की हुई घोषणा

फिल्म क्रिटिक्स गिल्ड एंड मोशन कंटेंट ग्रुप ने मुंबई में 15 दिसंबर को एक भव्य समारोह में अपने पहले क्रिटिक्स चॉइस शॉर्ट फिल्म अवॉर्ड्स के विजेताओं की घोषणा कर दी है। संभावताह और तुंग्रस ने ब्लैक कैट के साथ पुरस्कार समारोहों में बड़ी जीत हासिल की है।

Navodayatimes

बेस्ट फिल्म-फिक्शन, बेस्ट फिल्म – नॉन फिक्शन, सर्वश्रेष्ठ अभिनेता, सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री, सर्वश्रेष्ठ निर्देशक – फिक्शन, बेस्ट डायरेक्टर – नॉन फिक्शन, सर्वश्रेष्ठ लेखक, सर्वश्रेष्ठ एडिटर, सर्वश्रेष्ठ सिनेमेटोग्राफर और सर्वश्रेष्ठ स्कोर की दस श्रेणियों के बीच, पुरस्कार के लिए पांच सौ प्रविष्टियां प्राप्त हुई थी जिनमें से आलोचकों द्वारा प्रत्येक श्रेणी के विजेताओं का चयन किया गया।

Navodayatimes

विजेताओं में सर्वश्रेष्ठ फिल्म-फिक्शन के लिए संभावताह, बेस्ट फिल्म – नॉन फिक्शन के लिए तुंग्रस, संभावताह के लिए विकास पाटिल को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता, एमएए के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के रूप में कानी कुसृति, गौरव मदन ने संभावताह के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक – फिक्शन जबकि ऋषि चंदना ने तुंग्रस के लिए बेस्ट डायरेक्टर – नॉन फिक्शन का खिताब अपने नाम कर लिया है।

Navodayatimes

गौरव मदन ने फिर से संभावताह के लिए सर्वश्रेष्ठ लेखक के रूप में जीत हासिल कर ली है जबकि तुंग्रस में बेस्ट एडिटर के लिए नेहा मेहरा को पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। ब्लैक कैट ने शॉर्ट फिल्म अवॉर्ड्स में बेस्ट सिनेमेटोग्राफर और बेस्ट स्कोर का खिताब अपने नाम कर लिया है।

Navodayatimes

इस पुरस्कार समारोह में मनोरंजन इंडस्ट्री से कई प्रतिभाशाली नामों ने अपनी उपस्थिति से चार चांद लगा दिए थे। पंकज त्रिपाठी, श्रीराम राघवन, कुणाल कपूर, गुलशन देविह, श्रिया पिलगांवकर, सोहम शाह, मनीष शर्मा, नवीन कस्तूरिया, अमोल गुप्ते, दीपा, भाटिया, शिबानी, तनुजा चंद्र, मनोज बाजपेयी, शरत कटारिया सहित कई बड़े नाम शरीक हुए थे।

Navodayatimes

देश भर में लघु कहानी के आविष्कार और रचनात्मकता को पहचानने और उनकी सराहना करने के लक्ष्य के साथ, क्रिटिक्स चॉइस शॉर्ट फिल्म अवॉर्ड्स भारत के सबसे विश्वसनीय आलोचकों सहित, फिल्म क्रिटिक्स गिल्ड एंड मोशन कंटेंट ग्रुप, डब्ल्यूपीपी के वैश्विक कंटेंट निवेश और अधिकार प्रबंधन कंपनी का पहला सहयोगी प्रयास है।  

About MD MUZAMMIL

Check Also

आदिवासियों की समस्या को उजागर करती टी-सीरीज की शार्ट फिल्म ” जीना मुश्किल है यार” विश्व फ़िल्मफेस्टिवल में  

   आदिवासियों की समस्या को उजागर करती शार्ट फिल्म ‘ जीना मुश्किल है यार’ का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *