Tuesday , 23 May 2017
dance, mentally fit, physically fit, डांस

डांस आपको फिजिकली ही नहीं मेंटली भी करता है फिट, आइए जानें कैसे!

डांस करना किसे पसंद नहीं होता है। आज के समय पर हर कोई डांस करता है। लेकिन क्या आपको पता है कि डांस से आप अपनें शारिरिक ही नही बल्कि मानसिक समस्याओं को भी कम करते हैं। और नियमित रूप से डांस करते रहनें से आप मेंटली बिल्कुल फिट फिट भी हो जाते हैं।
कोलरेडो स्टेट यूनिवर्सिटी की एक बडी रिसर्च के बाद पता चला है कि, अगर आप दिन में थोडा बहुत भी अपनी कमर को डांस करने के दौरान हिलाती हैं तो ये आपके दिमाग को ताकत देता है।यही नही सीनीयर सिटीजम के लिए भी डांस बहुत फायदेमंद होता है। डांस करना नियमित रूप से उनके लिए एक अच्छी एक्सरसाइज साबित हो सकती है, क्योकि डांस करनें से आपका वर्कआउट तो होता ही है इसके साथ ही जब आप डांस करते हैं तो आप खुश भी होते हैं।
ऐसा माना जाता है कि इंसान के अपनें बुढापे की अवस्था तक आते आते इंसान का दिमाग कमजोर होने लगता है, लेकिन डांस ट्रेनर ‘डेनिस गुलियन’ का कहना है कि ऐसा कुछ भी नही है। उनके अनुसार ‘अगर आप जमीन पर डांस करते हैं तो, आपका दिमाग कभी कमजोर नगी हो सकता है। ज्यादातर लोग लकडी के फर्श पर डांस करना पसंद करते हैं, लेकिन असला दिमाग का विकास नॉर्मल जमीन पर डांस करके होता है। ‘गुलियन’ खुद एक सीनियर सिटीजन हैं और 20 सालो से सीनियर सिटिजन को डांस सिखा रही हैं। उनका कहना है कि डांस करना एक सोशल एक्सरसाइज भी है, क्योकि डांस करते समय आप कई लोगो से मिलते हैं।
वहीं डांसर विकी मिहीन का कहना है, डांस करना इसलिए भी एक मस्ती है क्योकि जब आप ग्रुप में डांस करते हैं, तो उस ग्रुप में डांस कर रहे होते हैं तो उस ग्रुप में हर उम्र के लोग होते हैं , जो अपनें आप में ही खुद एक सुखद एहसास होता है।
रिसर्च के अनुसार यदि आप 6 महिनें लगातार डांस करती हैं तो आपका दिमाग दूसरो से 2 गुना तेज चलनें लगता है। और यदि आप लाइन में लगकर या पार्टनर या ग्रुप के साथ डांस करती हैं तो आपका दिमाग और तेजी से विकसित होता है।

About Jaya Dwivedi

Check Also

दहेज नही रसगुल्ला बना शादी टूटनें की वजह!

अक्सर आपनें देखा होगा कि दहेज न मिलनें के कारण बारात लौटी, लेक्न क्या आपनें …