Sunday , December 16 2018
Home / राज्य / जाको राखे साइयां मार सके ना कोई, कहावत चरितार्थ हुई

जाको राखे साइयां मार सके ना कोई, कहावत चरितार्थ हुई

सुपौल(बिहार): सुपौल जिले के एक अज्ञात कलियुगी माँ ममता को कलंकित करते हुए नवजात बच्ची को खेतों के झाड़ियों में फेंक दिया।

खेतों में काम करने वाले ग्रामीण किसानों ने देखा की झाड़ियों में एक बच्ची यूं ही रखी हुई थी। ग्रामीणों ने उसे उठाकर गांव में ले गए वही नवजात बच्ची को देखने के लिए ग्रामीणों का भीड़ जुट गया है। ग्रामीणों के सहयोग से नवजात बच्ची को दूध पिलाया जा रहा है।

एक तरफ सरकार लाखों रुपए खर्च कर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान चला रही है। वही बेटी को बोझ समझकर नफरत भरी आंखों से देखा जा रहा है और तड़प-तड़प मरने के लिए फेक दिया जाता है।

आखिर इस तरह की घटना बेटियों के साथ कब तक होती रहेगी और इसके जिम्मेदार कौन है?

About N.K. SINGH

Check Also

पहली बार AMU में लड़कियां खेलती नजर आएंगी यह खेल

1920 में रखी गई एएमयू(AMU) की नींव के पूरे 100 वर्ष बाद इस शौक्षिक संस्थान …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *