Thursday , September 20 2018
Home / देश / अब ऐसे काटे जा रहे हैं दिल्ली में चालान

अब ऐसे काटे जा रहे हैं दिल्ली में चालान

दिल्ली पुलिस ने सड़क पर चलते समय यातायात नियमों का पालन न करने वाले लोगों पर एक्शन लेने का एक अनोखा तरीका अपनाया है. दरअसल, दिल्ली पुलिस ने अपने सोशल नेटवर्किंग अकाउंट के जरिए उन लोगों के चालान काट रही है, जो नियमों का पालन नहीं करते हैं.

 

सोशल मीडिया पर चलाई जा रही मुहिम

ट्रैफिक पुलिस ने यह कदम सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर लगातार मिल रही शिकायतों के बाद उठाया है. दिल्ली पुलिस के अधिकारी उन लोगों के खिलाफ एक्शन ले रहे हैं जिनकी नियम तोड़ते हुए दिखाई दे रहे हैं और उनकी तस्वीरों को किसी अन्य द्वारा सोशल मीडिया पर अपलोड किया गया है. इसके साथ ही ट्रैफिक नियमों के प्रति लोगों में जागरुकता लाने के लिए सोशल मीडिया पर ही एक अभियान चलाया जा रहा है.

 

कहीं कोई आपको देख तो नहीं रहा

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के जॉइंट कमिश्नर आलोक कुमार के मुतबिक, रोजाना ट्रैफिक पुलिस को यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों की करीब 150 से 200 शिकायतें सोशल मीडिया के जरिए मिलती हैं. गलत दिशा में वाहन चलाना, बिना हेलमेट ड्राइव करना और नम्बर प्लेट न होना, ऐसी कई शिकायतें हैं जिस पर तुरंत एक्शन लेते हुए उनका चालान काट जा रहा है. इसके साथ ही दिल्ली ट्रैफिक पुलिस द्वारा नियम का उल्लंघन करने वाली गाड़ी का नंबर और अन्य जानकारी सोशल मीडिया पर दी जा रही है, ताकि किसी तरह की परेशानी न हो.

  
4/6

ऐसे कर सकते हैं शिकायत

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस सोशल मीडिया के हर प्लेटफॉर्म पर है. दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि अगर कोई भी शख्स ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करते हुए पाया जाता है और कोई उसकी शिकायत करना चाहता है तो दिल्ली पुलिस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल @dtptraffic और whatapp पर  8750871493 नम्बर पर है पर इसकी जानकारी दे सकता है.

ट्रैफिक पुलिस की PIU तुरन्त लेती है एक्शन

जॉइंट सीपी ने ज़ी न्यूज़ को बताया की सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को सक्सेस बनाने के लिए हमारी एक स्पेशल टीम लगातार काम करती है. शिकायत मिलने के कुछ ही देर बाद ट्रैफिक पुलिस के पब्लिक इंटरफेस यूनिट (पीआई ) में तैनात पुलिसकर्मी उसका जवाब देते हैं और शिकायकर्ता को यह भी बताया जाता है कि उसकी शिकायत किस जिले के ऑफिसर के पास गई है. इस प्रक्रिया के पूरे होने के बाद नियम तोड़ने वालों के घर ही चालान पहुंच जाता है.

फोटो और पता होता है वेरिफाई

अगर शिकायत में फोटो या पता और वक्त स्पष्ट नहीं होता तो स्पेशल टीम शिकायतकर्ता को फोन कर उसको वेरिफाई करती है, लेकीन नोटिस भेजने से पहले पीआईयू उस फोटो और वीडियो को पूरी तरह सच्चाई होने के बाद ही उसे उसके अंजाम तक पहुंचाती है.

About Web Team

Check Also

जादूई कोशिकाओं का मिलान जीनबंधु द्वारा जीवन का एक उपहार

नई दिल्ली। किसी ने सही कहा है कि जरूरत में जो साथ दे, वास्तव में वही सच्चा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *