Wednesday , August 23 2017
Home / देश / शहीद परिवार के लोग बोले- मोदीजी! अब दुश्मनों को सबक सिखाएं

शहीद परिवार के लोग बोले- मोदीजी! अब दुश्मनों को सबक सिखाएं

रविवार तड़के उरी आर्मी बेस पर जैश-ए-मोहम्मद के हमले में 17 जवान शहीद हो गए। आतंकियों ने यहां टेंटों पर 17 ग्रेनेड फेंके। इसके बाद लगी आग में 13 जवान जिंदा जल गए। शहीद करनैल सिंह के गांव में जब देर रात खबर पहुंची तो वहां 150 घरों में चूल्हा नहीं जला। शहीदों में सबसे ज्यादा 15 बिहार रेजीमेंट के हैं। चार जवान के इतनी बुरी तरह झुलस चुके थे कि कई घंटों तक उनकी पहचान नहीं हो पाई। शहीदों में 2 डोगरा रेजीमेंट के…
सुबेदार करनैल सिंह (शिबु चक गांव, जम्मू-कश्मीर) – 10 डोगरा रेजीमेंट
हमले के पहले ही करनैल सिंह की परिवार से बात हुई थी। उनका पठानकोट ट्रांसफर हो चुका था। अगले महीने के दूसरे हफ्ते में उनकी पूरी यूनिट उरी से पठानकोट आने वाली थी। उनकी छुट्टी भी मंजूर हो चुकी थी। करनैल के तीन बच्चे हैं।

हवलदार रवि पाल सांबा (सांबा, जम्मू-कश्मीर) – 10 डोगरा रेजीमेंट
शहीद रवि पाल का छोटा भाई भी सेना में है। रवि के दो बच्चे दूसरी और चौथी कक्षा में पढ़ते हैं।
उनके बड़े भाई जोगिंदर पाल ने कहा, ”मैं मोदीजी से अपील करता हूं। जितना जल्द हो सके दुश्मनों को सबक सिखाएं। अब बहुत हुआ।”

11 शहीद 6 बिहार रेजीमेंट के
सिपाही राकेश सिंह (बिहार)
सिपाही जावरा मुंडा (झारखंड)
सिपाही नाइमन कुंजर (झारखंड)
सिपाही जनराव उइके (महाराष्ट्र)
हवलदार एनएस रावत (राजस्थान)
सिपाही गणेश शंकर (यूपी)
नायक एसके विद्यार्थी (बिहार)
सिपाही विश्वजीत गोरहाई (बंगाल)
लांस नायक चंद्रकांत शंकर गलांडे (महाराष्ट्र)
सिपाही जी दलाई (बंगाल)
लांस नायक आरके यादव (यूपी)
6 बिहार रेजीमेंट के इन 4 शहीदों की बाद में हुई पहचान
सिपाही हरिंदर यादव (यूपी)
सिपाही टी संदीप सोमनाथ (महाराष्ट्र)
हवलदार अशोक कुमार सिंह (बिहार)
सिपाही राजेश कुमार सिंह (यूपी)
ये हैं घायल
बिहार रेजीमेंट:
वीके गिरी, राम स्वरूप जाट, हरम सिंह, एसके ओरांव, बीजी सरकार, सुनील कुमार, सीएनके चंद्रमणी, रामदेव, शाम लाल, मुन्ना सिंह, सतीश कौशिक, बीजी बारिल।
डोगरा रेजीमेंट :मंजीत सिंह, विनय कुमार, जसवंत सिंह, कमल कांत और सतीश कुमार।
जब हमला हुआ तब कैंप में 3500 से 4000 जवान और अफसर मौजूद थे
हमले के वक्त कैंप में 3500 से 4000 जवान मौजूद थे। आर्मी में लंगर 2.30 बजे काम करना शुरू कर देता है। कुक और बाकी जवान जिनकी खाना बनाने की ड्यूटी थी वो लंगर में काम कर रहे थे। उनके अलावा कुछ जवान सोए हुए थे।
क्या बोले पर्रिकर…
पर्रिकर ने कहा, “हमारे 17 बहादुर जवानों ने कुर्बानी दी है। मैं उन्हें सैल्यूट करता हूं।”
“आर्मी चीफ और कमांडर स्थिति पर नजर बनाए रखें। जो हमले के लिए जिम्मेदार हैं, उनपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।’

About खबर ऑन डिमांड ब्यूरो

Check Also

फिल्म ‘एमएसजी ऑनलाइन गुरुकुल’ का पोस्टर रिवील

सिरसा। डाॅ. एमएसजी के नाम से मशहूर संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इंसां …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *