Thursday , October 18 2018
Home / मनोरंजन / फिल्म रिव्यु: सपनों और रिश्तों के बीच बुनी गई है ‘फन्ने खान’ की कहानी

फिल्म रिव्यु: सपनों और रिश्तों के बीच बुनी गई है ‘फन्ने खान’ की कहानी

वह खुद मोहम्मद रफी तो नहीं बन पाया लेकिन अपनी बेटी को लता मंगेशकर बनाना चाहता हैं। सुपरस्टार बनने का ख्वाब देखने वाला प्रशांत शर्मा (अनिल कपूर) जो कि अपने दोस्तों के बीच फन्ने खां के नाम से ज्यादा फेमस है, अपने सपने को पूरा करने के लिए बहुत मेहनत करता है। प्रशांत बॉलिवुड ऐक्टर शम्मी कपूर की पूजा तक करता हैं और बस ऐसा लगता है कि जैसे वह सिर्फ सुपरस्टारडम के अपने सपने को पूरा करने के लिए ही जिंदा है। हालांकि, वह अपने इस ख्वाब को पूरा नहीं कर पाता और उसकी उम्मीदें अपनी नवजात बच्ची से बंध जाती हैं। यहां तक कि वह उसका नाम भी लता (पीहू सैंड) ही रखता है। लता बड़ी होती है और वह न केवल अच्छा गाती है बल्कि डांस भी अच्छा करती है। हालांकि, प्लस साइज़ होने की वजह से वह स्टेज पर लगातार बॉडी शेमिंग का शिकार भी होती है।

प्रशांत अपनी बेटी को स्टार बनाने के लिए हर कुछ करता हैं जो एक पिता अपने बच्चे के लिए करते हैं। और यहां तक कि अपने इस ख्वाब को पूरा करने के लिए जो उसपर जुनून सवार है उसके लिए अपनी ही बच्ची से डाट भी सुनता हैं। उन्होंने मुंबई के एक मिडल क्लास व्यक्ति को लेकर बेहतरीन बैलंस बनाने की कोशिश की है जो कि अपने सपने और सच के बीच खूब मशक्कत करता है। उसकी वाइफ कविता (दिव्या दत्ता) भी उसके इस सपने को सच करने में हमेशा उसके साथ होती है। बतौर डेब्यू ऐक्टर पीहू ने अपने किरदार को काफी संवेदनशीलता के साथ जीया है, लेकिन जो चीज समझ से परे है वह है लगातार उसका उसके पापा से शिकायत। हॉट सिंगर बेबी सिंह के किरदार में ऐश्वर्या राय बच्चन काफी गॉरजस दिख रही हैं, लेकिन उनकी कहानी पर ज्यादा मेहनत नहीं ही की गई।

राजकुमार राव प्रशांत का काफी अच्छा दोस्त है। राजकुमार राव के साथ उनकी केमिस्ट्री अस्वाभाविक नज़र आती है।

फिल्म की कहानी की राह सेकंड हाफ में काफी कमजोर लगती हैं। जैसे कि बेबी सिंह की कोई रियल बैकस्टोरी नहीं है और उनकी लाइफ में केवल उनका एक मैनेजर है जो बस यही चाहता है कि एक रिऐलिटी शो में स्टेज पर वह (बेबी) वॉरड्रोब मैलफंक्शन का शिकार हो जाए। फिल्म का सेकंड हाफ काफी लंबा और कठिन नज़र आता है। ‘अच्छे दिन’ को छोड़कर म्यूज़िकल फिल्म ‘फन्ने खां’ का साउंड ट्रैक उतना अच्छा नही हैं।

कुल मिलाकर ‘फन्ने खां’ सितारों से भरी एक म्यूज़िकल मसाला फिल्म है, जिसमें सितारे अपनी आवाज का जादू बिखेरते दिखते हैं। यह फिल्म दिखाती है कि कैसे कोई पैरंट्स अपने सपनों को अपने बच्चों के जरिए सच कर दिखाना चाहता है। इस फिल्म के शो स्टॉपर साफ तौर पर अनिल कपूर हैं, जिन्होंने अपने बेहतरीन अदाकारी का परिचय दिया है और जिसके लिए आपको ‘फन्ने खां’ एक बार जरूर देखनी चाहिए।,

रेटिंग:5/2.5

About Web Team

Check Also

नमस्ते इंग्लैंड” के लिए अक्षय कुमार ने दिया एक खास संदेश!

सुपरहिट फ़िल्म नमस्ते लंदन के साथ दर्शकों का मनोरंजन करने के बाद, निर्देशक और निर्माता …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *