Thursday , March 21 2019
Home / लाइफस्टाइल / महिलाओं में हृदय रोगों के लक्षण

महिलाओं में हृदय रोगों के लक्षण

दिल की बीमारियों का खतरा महिलाओं और पुरुषों दोनों को होता है, लेकिन महिलाओं में हृदय रोगों के कुछ लक्षण पुरुषों से अलग हो सकते हैं। 2003 में महिलाओं में दिल की बीमारियों पर हुए एक शोध में पाया गया कि महिलाओं में कुछ लक्षण ऐसे भी हैं, जो किसी और में नहीं देखे जाते। जैसे- बहुत अधिक चिंता करना, नींद पूरी न होना, बेचैनी और बिना कारण थका हुआ महसूस करना आदि। खास बात ये है कि 80 प्रतिशत महिलाओं में ये लक्षण हार्ट अटैक से लगभग एक महीने पहले दिखने शुरू हुए।

महिलाओं में हृदय रोगों के निम्न लक्षण हो सकते हैं-
काम के दौरान या बैठे हुए चक्कर आ जाना
शरीर में पीलापन हो जाना
सांस लेने में परेशानी या उथली सांस आना
सिर का हल्का महसूस होना
अक्सर आंखों के आगे धुंधला या अंधेरा छा जाना
अक्सर चिंता करना और परेशान रहना
बिना कारण जी मिचलाना
अचानक उल्टी होने लगना
जबड़ों में दर्द होना
गर्दन में दर्द होना
पीठ में दर्द होना
अपच या पेट और सीने में गैस होने जैसा दर्द महसूस करना
पसीना निकलने के साथ-साथ ठंड लगना

महिलाओं को ध्यान रखनी चाहिए ये बातें
यदि आप अपने हाथ या पैर के छोर पर किसी प्रकार की झुनझुनी महसूस करें तो तत्काल चिकित्सक से संपर्क करें।
यदि आपको दिल से संबंधित लक्षणों, जैसे सांस की तकलीफ, छाती या पीठ में ठंडा पसीना या दर्द आदि के साथ पेट की तकलीफ है, तो संभवतः यह सिर्फ मामूली पेट खराब होने की समस्या नहीं, बल्कि उससे कुछ ज्यादा है।
गर्दन, पीठ, दांत, भुजाएं और कंधे की हड्डी में दर्द होना हार्ट अटैक के लक्षण हैं। इसे ‘रेडीएटिंग’ दर्द कहते हैं। यह इसलिए होता है क्योंकि दिल की कई धमनियां यहां समाप्त होती हैं जैसे उंगलियों के पोर जहां दर्द केंद्रित होता है।

यदि आपको जबड़े में दर्द है तो इसका मतलब है कि आपको हार्ट अटैक आया है, ऐसा इसलिए क्योंकि इसके पास मौजूद नसें आपके हृदय से निकलती हैं। यदि दर्द लगातार बना रहे तो आपको दांतों की परेशानी है, हालांकि यदि दर्द थोड़ी-थोड़ी देर में होता है तथा थक जाने पर यह दर्द बढ़ जाता है तो यह दिल से संबंधित हो सकता है।

चक्कर आना या सिर घूमना भी हार्ट अटैक के ही कुछ खास लक्षण हैं। बिना किसी ज्ञात बड़े कारण के चक्कर आना या सिर घूमना दिल संबंधी समस्या का ही संकेत होते हैं क्योंकि ऐसा दिल को जाने वाली एक शिरा में अवरोध उत्पन्न होने के कारण होता है।
यदि आप हर समय थका हुआ महसूस करती हैं और अपने रोजमर्रा के काम निपटाने में भी आपको संघर्ष करना पड़ता है, उसे आपको जल्द ही दिल की जांच करवानी चाहिए।

सामान्य से अधिक पसीना आना भी सामान्य लक्षण नहीं। यह दिल की समस्या का संकेत हो सकता है। ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि हमारे दिल को ब्लॉक्ड ध‍मनियों के माध्‍यम से रक्‍त को पंप करने में अधिक प्रयास करना पड़ता है। जिसके कारण शरीर का तापमान कम रखने के क्रम में अधिक पसीना आता है।

About RITESH KUMAR

Check Also

Samjhauta Blast Case

Swami Aseemanand Acquitted Samjhauta Blast Case: समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट मामले में स्वामी असीमानंद समेत चार आरोपी बरी

हरियाणा के पंचकुला में एनआईए के स्पेशल कोर्ट ने समझौता ब्लास्ट के आरोपी स्वामी असीमानंद, …