Friday , November 24 2017
Home / खेल / Hyderabad Test: बांग्लादेश के खिलाफ जीत से बस 7 विकेट दूर भारत

Hyderabad Test: बांग्लादेश के खिलाफ जीत से बस 7 विकेट दूर भारत

हैदराबाद। बांग्लादेश के खिलाफ चल रहे एकमात्र टेस्ट मैच में टीम इंडिया अपने अपराजित क्रम को बरकरार रखने उतरेगी। चौथे दिन का खेल खत्म होने तक बांग्लादेश ने अपनी दूसरी पारी में 103 रन पर 3 विकेट गंवा दिए थे। बांग्लादेश के सामने 459 रनों की चुनौती है और वो अब भी 356 रन पीछे हैं। भारत को आज अंतिम दिन जीत के लिए सिर्फ 7 विकेट की जरूरत है।

भारत ने फालोआन देने के बजाय बल्लेबाजी की और अपनी दूसरी पारी चार विकेट पर 159 रन बनाकर समाप्त घोषित की।पिच के व्यवहार के बावजूद भारतीय गेंदबाजी आक्रमण में इतना पैनापन है कि वे बचे हुए सात विकेट हासिल कर सकते हैं।

बांग्लादेश की टीम चाय के सत्र के बाद दूसरी पारी के दौरान शुरू में तमीम इकबाल (तीन) का विकेट गंवाने के बावजूद सहज दिख रही थी लेकिन रविंद्र जडेजा की गेंद पर अजिंक्य रहाणे ने क्रीज पर जमे सौम्य सरकार (42) का एक हाथ से शानदार कैच लपक लिया। सरकार और मोमिनुल हक (27) ने दूसरे विकेट के लिये 60 रन जोड़े।

इसके बाद मोमिनुल की भी लय टूट गयी। अश्विन ने उन्हें आउट किया। उनका कैच भी रहाणे ने लिया और बांग्लादेश की टीम ने 75 रन पर तीन विकेट खो दिये।

सबसे तेज 250 विकेट हासिल करने की उपलब्धि अपने नाम करने वाले अश्विन (16 ओवर में 34 रन देकर दो विकेट) ने दूसरी पारी में अच्छा टर्न हासिल किया। नयी गेंद दिये जाने से उन्हें कुछ उछाल हासिल करने में मदद मिली।

शाकिब अल हसन (नाबाद 21) महमूदुल्लाह रियाद (नाबाद 09) और पहली पारी के शतकवीर कप्तान मुशफिकुर रहीम को मैच बचाने के लिये अपना सर्वश्रेष्ठ खेल दिखाना होगा।

इससे पहले लंच के बाद चेतेश्वर पुजारा के तेजी से बनाये गये नाबाद अर्धशतक के बाद भारत ने आज यहां चाय तक दूसरी पारी चार विकेट पर 159 रन पर घोषित कर बांग्लादेश को जीत के लिये 459 रन का लक्ष्य दिया।

पुजारा ने 58 गेंदों में नाबाद 54 रन बनाये जबकि कप्तान विराट कोहली ने केवल 40 गेंद में 38 का योगदान दिया। सुबह के सत्र में भारत ने बांग्लादेश को पहली पारी में 388 रन पर समेट दिया था। इससे मेजबान टीम 299 रन से बढ़त बनाये थी। दूसरी पारी में सलामी बल्लेबाज मुरली विजय (07) और लोकेश राहुल (10) जल्दी ही तास्किन अहमद (43 रन देकर दो विकेट) को विकेट दे बैठे। लेकिन पुजारा और कोहली ने बांग्लादेश को चौथे दिन ही बल्लेबाजी के लिये उतारने के लिये 67 रन की साझेदारी निभायी। इसमें पुजारा काफी आक्रामक थे, हालांकि कोहली भी तेजी से रन जुटाते रहे।

पुजारा ने तास्किन अहमद की रफ्तार का फायदा उठाया और हुक करते हुए छक्का जड़ा। कोहली भी पीछे नहीं रहे, उन्होंने शाकिब की गेंद को लांग आन पर छक्के के लिये पहुंचाया। दोनों ने एक रन लेकर 50 रन की साझेदारी निभायी। कोहली शाकिब की गेंदबाजी में खराब शाट खेलकर महमूदुल्लाह रियाद को शार्ट मिड विकेट पर कैच दे बैठे। उन्होंने अपनी पारी में दो चौके और एक छक्का जड़ा।

पहली पारी में 82 रन की पारी से आत्मविश्वास हासिल करने वाले अजिंक्य रहाणे ने 31 गेंद में दो चौके और मेहदी हसन मिराज की गेंद पर एक छक्के से 25 रन बनाये। वह शाकिब की गेंद पर लंबा शाट खेलने के प्रयास में बोल्ड हो गये। पारी घोषित करने को ध्यान में रखते हुए जडेजा को बल्लेबाजी क्रम में उपर भेजा गया। दूसरी ही गेंद में मिराज ने जडेजा का कैच छोड़ दिया और गेंद बाउंड्री की ओर चली गयी। अगली गेंद पर उन्होंने छक्का जड़ा। पुजारा ने इस बीच 57 गेंद में छह चौके और एक छक्के से अपना दूसरा अर्धशतक पूरा किया।

इससे पहले बांग्लादेश के कप्तान मुशफिकुर रहीम के धर्यपूर्ण शतक की बदौलत मेहमान टीम ने पहली पारी में 388 रन बनाए जबकि अश्विन सबसे तेज 250 विकेट हासिल करने की उपलब्धि अपने नाम करने में सफल रहे। रहीम ने 127 रन बनाए लेकिन इसके बावजूद भारत के पहली पारी के स्कोर से बांग्लादेश की टीम 299 रन से पीछे रही। भारतीय गेंदबाजों ने 127.5 ओवर की गेंदबाजी की जिसके बाद कप्तान कोहली ने बांग्लादेश को फालोआन नहीं देने का फैसला किया।

बांग्लादेश के निचले क्रम ने अच्छा संघर्ष किया जिसके बाद अश्विन ने मुशफिकुर को विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के हाथों कैच मेहमान टीम की पारी का अंत किया और 45वें टेस्ट में 250 विकेट चटकाकर इस आंकड़े तक सबसे जल्दी पहुंचने वाले गेंदबाज बने।

मुशफिकुर ने अपने पांचवें टेस्ट शतक के दौरान 262 गेंद का सामना करते हुए 16 चौके और दो छक्के मारे। उन्होंने उमेश यादव पर चौके के साथ 235 गेंद में शतक पूरा किया। बांग्लादेशी कप्तान ने अश्विन और इशांत शर्मा पर एक-एक छक्का भी मारा।

भारत के लिए दिन की शुरुआत अच्छी रही जब चौथी ही गेंद पर भुवनेश्वर कुमार (52 रन पर एक विकेट) ने मेहदी हसन मिराज (51) को बोल्ड करके मुशफिकुर के साथ उनकी सातवें विकेट की 87 रन की साझेदारी का अंत किया। ताइजुल इस्लाम (10) ने यादव (84 रन पर तीन विकेट) और इशांत (69 रन पर एक विकेट) की बाउंसर का डटकर सामना किया। वह हालांकि यादव की ही एक बाउंसर पर साहा को कैच दे बैठे।

तस्किन अहमद (08) ने कप्तान के साथ लगभग 11 ओवर में 39 रन जोड़े जिसके बाद वह जडेजा (70 रन पर दो विकेट) की गेंद पर स्लिप में रहाणे को कैच दे बैठे। इस साझेदारी के दौरान मशफिकुर ने शतक भी पूरा किया। अश्विन ने इसके बाद मुशफिकुर को आउट करके बांग्लादेश की पारी का अंत किया।

About khabar On Demand Team

Check Also

बाल दिवस: बच्चों ने रन फाॅर चिल्ड्रेन में भाग लिया