Sunday , February 24 2019
Home / खेल / जूनियर विश्वकप: भारत का अश्वमेधी अभियान जारी, बेल्जियम को 2-1 से हराकर बना चैंपियन

जूनियर विश्वकप: भारत का अश्वमेधी अभियान जारी, बेल्जियम को 2-1 से हराकर बना चैंपियन

लखनऊ। भारत की जूनियर हॉकी टीम ने अपने जीत के सिलसिले को बरकरार रखते हुए 15 साल बाद जूनियर वर्ल्‍ड कप हॉकी का खिताब जीत लिया। विश्वकप के फाइनल में भारतीय लड़कों ने बेल्जियन लड़कों को 2-1 से हराया। भारत के लिए गुरजंत सिंह और सिमरनजीत सिंह ने गोल दागे।

मैच की शुरुआत से ही भारतीय टीम ने दबदबा बना लिया था। भारत की ओर से दोनों गोल मैच के पहले हाफ में दागे गए। गुरजंत सिंह ने मैच के 8वें मिनट में भारतीय टीम के लिए पहला गोल किया। सिमरनजीत सिंह ने 22वें मिनट में दूसरा गोल दागकर टीम को 2-0 की बढ़त दिला दी। बेल्जियम ने मैच के 78वें मिनट में अपनी टीम के लिए एकमात्र गोल दागा।

भारत तीसरी बार जूनियर वर्ल्‍ड कप के फाइनल में पहुंचा था। इससे पहले 2001 में ऑस्ट्रेलिया के होबर्ट में भारतीय टीम ने अर्जेंटीना को 6-1 से हराकर एकमात्र जूनियर वर्ल्‍ड कप जीता था। वहीं 1997 में इंग्लैंड में हुए टूर्नामेंट के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हराया था।

इस टीम के कोच हरेंद्र ने कहा था कि शारीरिक फिटनेस, दबाव के आगे घुटने नहीं टेकना और मानसिक दृढ़ता इस टीम की खासियत है और मुझे नहीं लगता कि अब इसे खिताब जीतने से कोई रोक सकता है। मैच के बाद उनका ये दावा पूरी तरह से सही साबित हुआ, जब भारतीय टीम ने 15 साल पर विश्वकप को अजेय रहते हुए जीता।

About खबर ऑन डिमांड ब्यूरो

Check Also

आदिवासियों की समस्या को उजागर करती टी-सीरीज की शार्ट फिल्म ” जीना मुश्किल है यार” विश्व फ़िल्मफेस्टिवल में  

   आदिवासियों की समस्या को उजागर करती शार्ट फिल्म ‘ जीना मुश्किल है यार’ का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *