Sunday , February 24 2019
Home / देश / पीएम नरेंद्र मोदी ने जयललिता को दी श्रद्धांजलि, कई नेता पहुंचे चेन्नई

पीएम नरेंद्र मोदी ने जयललिता को दी श्रद्धांजलि, कई नेता पहुंचे चेन्नई

नई दिल्ली । तमिलनाडु की मुख्यमंत्री और AIADMK पार्टी प्रमुख जे. जयललिता का सोमवार रात को निधन हो गया। अपोलो अस्पताल के मुताबिक, जयललिता ने रात 11:30 बजे अंतिम सांस ली और उसके बाद उनका लाइफ सपोर्ट सिस्टम हटा लिया गया।

उनका अंतिम संस्कार आज मरीना बीच पर एमजीआर की समाधि के पास शाम साढ़े चार बजे किया जायेगा। अम्मा के नाम से पूरे तमिलनाडु में मशहूर जयललिता का पार्थिव शरीर अभी लोगों के अंतिम दर्शन के लिए उनके पोएश गार्डन स्थित आवास के बगल में राजाजी हॉल में रखा गया है। उनके अंतिम दर्शन के लिए स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित देश के कई प्रमुख नेता चेन्नई पहुंचे हैं। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी चेन्नई आ रहे थे, लेकिन विमान में तकनीकी खराबी आने के कारण उनका विमान रास्ते से दिल्ली लौट गया। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी व वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद भी आज चेन्नई पहुचेंगे।

जयललिता के निधन पर देश के लगभग सभी प्रमुख नेताओं ने शोक प्रकट किया है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी शोक प्रकट किया है। तमिलनाडु सरकार ने जयललिता के निधन पर सात दिनों का शोक व तीन दिन की छुट्टी घोषित की है। केरल सरकार ने भी आज अपने यहां छुट्टी घोषित कर दी है। केंद्र सरकार व बिहार सरकार ने भी एक-एक दिन का शोक घोषित किया है। केंद्र सरकार के प्रतिनिधि के रूप में वरिष्ठ मंत्री वेंकैया नायडू पहले ही चेन्नई पहुंचे हैं।

तमिलनाडु के मशहूर फिल्म अभिनेता, राजनेता व पूर्व मुख्यमंत्री एवं अन्न्नाद्रमुक के संस्थापक एमजी रामचंद्रन जयललिता के राजनीतिक संरक्षक थे और फिल्मों में काम करते हुए दोनों के बीच मधुर संबंध बने थे। जयललिता जीवन पर्यंत एमजीआर के सानिध्य में रहीं और मृत्यु के बाद भी उनके अंतिम संस्कार के लिए एमजीआर की समाधि के बगल में ही जगह चुनी गयी है।

राजाजी हॉल के बाहर पुलिस को जयललिता के समर्थकों को नियंत्रित करने के लिए हल्की लाठी भांजी पड़ी। यह स्थिति यहां अपार भीड़ जमा होने के कारण उत्पन्न हुई। जयललिता को श्रद्धांजलि देने व अपना दुख प्रकट करने राज्य के कई हिस्सों में लोगों ने अपने सिर मुड़वा लिये।

 

About RITESH KUMAR

Check Also

आदिवासियों की समस्या को उजागर करती टी-सीरीज की शार्ट फिल्म ” जीना मुश्किल है यार” विश्व फ़िल्मफेस्टिवल में  

   आदिवासियों की समस्या को उजागर करती शार्ट फिल्म ‘ जीना मुश्किल है यार’ का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *