Monday , July 23 2018
Home / देश / ज्योतिषाचार्य सुधांशु निर्भय की दिल्ली से लौटते समय सड़क दुर्घटना में निधन
PC: Kodmedia

ज्योतिषाचार्य सुधांशु निर्भय की दिल्ली से लौटते समय सड़क दुर्घटना में निधन

राष्ट्रपति सम्मान प्राप्त दैवज्ञ सुधांशु निर्भय का निधन गुरुवार सुबह तड़के 6.15 बजे बुलंदशहर जिले के शिकारपुर नामक कस्बे के समीप हुआ. राजधानी दिल्ली से घर लौट रहे सुधांशु निर्भय की कार को एक अज्ञात टैंकर ने सामने से मारी टक्कर जिससे चालक सीट पर मौजूद निर्भय को अंदरूनी चोटें आई. नज़दीकी अस्पताल ले जाने के बाद डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. डॉक्टरों के मुताबिक सुधांशु की मौत हेड इंजरी स्पाइनल इंजरी और ज्यादा खून बह जाने की वजह से हुई.

सड़क दुर्घटना में हुई 36 वर्षीय ज्योतिषाचार्य की मौत

कार में 2 और भी साथी उनके साथ थे जिनके नाम कौशल और गिनना हैं. बुलंदशहर जिला अस्पताल ने कौशल को एम्स, दिल्ली रेफर कर दिया जबकि गिनना को मामूली तौर पर चोटें आई हैं सुधांशु का अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले के सोरों में गुरुवार देर शक़म किया गया. बता दें कि सुधांशु निर्भय को 2007 में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल ने ब्रह्म ऋषि की उपाधि से सम्मानित किया था. साथ ही अंतरराष्ट्रीय ज्योतिषाचार्यों के संगठन द्वारा लगातार तीन वर्षों तक भारत की ओर से सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषाचार्य का खिताब भी हासिल किया है. इसके अलावा हांगकांग मलेशिया सिंगापुर में सिर्फ भारत का प्रतिनिधित्व किया है बल्कि आयुर्वेद और ज्योतिष के तमाम विधाओं को पूरी दुनिया के समक्ष प्रस्तुत भी किया है. इन सबके अलावा दैवज्ञ सुधांशु निर्भय की छवि बर्षों से समाज सुधारक की बनी हुई है पिछले एक वर्ष में 450 से ज्यादा गौ वंशों का जीवन न सिर्फ बचाया गया बल्कि उनके लिए शहर की पहली वराह गौशाला की शुरुवात की गई. एटा के क्षेत्रीय सांसद राजवीर सिंह और पूर्व सांसद कुंवर देवेंद्र सिंह यादव सहित कई राजनेता, समाज सेवक, और उद्योगपतियों ने शोक प्रकट किया है.

दिल्ली, पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, महाराष्ट्र और कोलकाता के अलावा कई राज्यों में जाकर इन्होंने ज्योतिष का आलेख भी जगाया है.

About Team Web

Check Also

#Viral_Video: लक्ष्मी पूजन में बार बालाओं का ठुमका, खूब बरसा “टिप-टिप पानी”

पटना: एक वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है और इसकी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *