Thursday , October 19 2017
Home / देश / RSS प्रवक्ता का आरक्षण पर बड़ा बयान, ये बयान UP चुनाव में पहुंचाएगा नुकसान!

RSS प्रवक्ता का आरक्षण पर बड़ा बयान, ये बयान UP चुनाव में पहुंचाएगा नुकसान!

जयपुर। पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले RSS ने आरक्षण पर बड़ा बयान दिया है। RSS के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने आरक्षण खत्म किए जाने की वकालत की है और कहा है कि आरक्षण का इतने सालों में कोई फायदा नहीं हुआ है। ऐसे में इस पर अब मंथन करना चाहिए।

लालू यादव ने की टिप्पणी

सबको अब समान रूप से अधिकार मिलने चाहिए। वहीं लालू यादव ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आरक्षण किसी की खैरात नहीं है।

नये सिरे से विचार करने की जरुरत

मनमोहन वैद्य ने कहा कि आरक्षण पर एक नये सिरे से विचार करना चाहिए और सभी समुदाय के लिए करना चाहिए। आजादी के बाद हमारा समाज इतना पिछड़ा क्यों है और गरीब, अशिक्षित क्यों है तो इसको देखना चाहिए। एससी और एसटी के लिए अलग से अधिकार दिए गये हैं। उनको बहुत समय से संसाधनों से दूर रखा गया है। इसलिए उनको शक्ति देने के लिए और समान अवसर देने के लिए इस आरक्षण की व्यवस्था की गई है।

आरक्षण बहुत दिनों तक देना सही नहीं

डा अंबेडकर ने भी कहा था कि आरक्षण बहुत दिनों तक देना सही नहीं है। ये अलगाववाद को बढ़ावा देने की बात है। तो सबको समान अवसर एक समय के बाद मिलना चाहिए, ये हमारा सोचना है। उन्होंने क्या कुछ कहा, आप वीडियो में सुन सकते हैं…

अल्पसंख्यकों को बहुत सारे अधिकार दिए गये

RSS के प्रचार प्रमुख ने कहा कि भारत में हमेशा स्टेट सेक्यूलर ही रहा है। राजा ने कभी भारत में धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं किया है। संविधान सभा के समय सबको इस शब्द के बारे में पता था। उन लोगों ने इस पर चर्चा की और उस पर अमल किया गया। संविधान में तथाकथित अल्पसंख्यकों को बहुत सारे अधिकार दिए गये हैं, जिसकी आवश्यकता नहीं थी।

आरक्षण से फायदा नहीं हुआ तो इसकी जांच हों

सबको समान रूप से अधिकार मिलने की आवश्यकता है। हिंदुत्व में ऐसी परम्परा नहीं रही है। सबको समान रूप में रखना चाहिए। इससे सभी को समान अवसर नहीं मिल पा रहे हैं। इसलिए इसको फिर से देखने की जरूरत है। हालांकि बाद में मनमोहन वैद्य ने सफाई दी कि पिछड़े लोगों को आगे लाने के लिए किसी व्यवस्था की जरूरत हो तो होनी चाहिए, लेकिन इतने सालों में भी आरक्षण से फायदा नहीं हुआ तो इसकी भी जांच होनी चाहिए। वैद्य ने कहा कि उनके बयान का यूपी चुनाव पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। वहीं लालू यादव ने RSS के इस बयान पर कहा कि आरक्षण संविधान प्रदत्त अधिकार है। यह RSS जैसे जातिवादी संगठन की खैरात नहीं।

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव से पहले भी RSS प्रमुख मोहन भागवत ने भी आरक्षण के खिलाफ बयान दिया था। हालांकि, इस बयान को विपक्षी दलों ने खूब भुनाया था।

 

About Jyoti Yadav

Check Also

दिवाली की बाज़ी किसके हाथ…!

दिवाली वाला हफ्ता हो और बड़ी फिल्में आकर एक-दूजे को चुनौती न दें तो कुछ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *