Saturday , November 17 2018
Home / देश / कश्मीर में फिर से मुसीबत बने पत्थरबाज, सेना की गोलीबारी में कम से कम 6 पत्थरबाज ढेर
कश्मीरी पत्थरबाज, पत्थर फेंकले वाले, सेना, आर्मी, श्रीनगर, जम्मू कश्मीर, पेट्रोल बम, मतदान, उपचुनाव, Stone pelting on army, Indian Army, Peoples died in army firing, kashmiri stone pelters, voting in kashmir,

कश्मीर में फिर से मुसीबत बने पत्थरबाज, सेना की गोलीबारी में कम से कम 6 पत्थरबाज ढेर

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में सेना के लिए बड़ी मुसीबत साबित हो रहे पत्थरबाजों पर सेना ने कड़ी कार्रवाई की है। सेना ने अपने बचाव में की फायरिंग में कम से कम 6 पत्थरबाजों को ढेर कर दिया है। पत्थरबाजों की ये भीड़ सेना पर लगातार हमले कर रही थी, साथ ही पूरे कश्मीरी क्षेत्र में तनाव और अव्यवस्था पैदा कर रही थी। सेना को फायरिंग इसलिए भी करनी पड़ी, क्योंकि श्रीनगर के पास बड़गाम में उपचुनाव के लिए मतदान भी हो रहा था और पत्थरबाज लोकतंत्र की इस प्रक्रिया में व्यवधान डालने की कोशिश कर रहे थे।

सेना के अधिकारियों की मानें तो पत्थरबाजों ने पूरे उपचुनाव को बुरी तरह से प्रभावित किया है। इसकी पुष्टि मतदान के आधिकारिक आंकड़े भी कर रहे हैं, जिसमें दोपहर 3 बजे तक महज 6 प्रतिशत के आसपास ही मतदान दर्ज हुआ था। अनाधिकारिक सूत्रों को मुताबिक सेना की फायरिंग में बडगाम जिले में चरार ए शरीफ के पाखेरपुरा और बीरवाह इलाके में दो दो लोगों की मौत और इसी जिले के चडूरा क्षेत्र में एक तथा मागम कस्बे से भी एक व्यक्ति की मौत की खबर है।

अधिकारियों ने बताया कि कई इलाके में हिंसक प्रदर्शन के कारण बडगाम जिले में तकरीबन 70 प्रतिशत मतदान केंद्रों को मतदानकर्मियों ने छोड़ दिया। उपद्रव कर रही भीड़ को काबू करने के लिए सुरक्षा बलों की मदद के वास्ते सेना को बुलाया गया। भीड़ ने श्रीनगर निर्वाचन क्षेत्र के गंदेरबल जिले में एक मतदान केंद्र पर पथराव किया और पेट्रोल बम फेंका।

जानकारी के मुताबिक बडगाम जिले के चरार ए शरीफ इलाके के पाखेरपुरा में एक मतदान केंद्र पर सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने तोड़फोड़ की और एक इमारत को क्षतिग्रस्त कर दिया जहां एक मतदान केंद्र था। सुरक्षाबलों ने मतदान केंद्रों पर हमला करने वाली भीड़ को तितर-बितर करने के लिए चेतावनी स्वरूप गोलियां चलाई लेकिन उनपर कोई फर्क नहीं पड़ा।

अधिकारियों ने कहा कि गोलीबारी में छह लोग घायल हो गए जिनमें से दो की बाद में मौत हो गई। वहीं, सुरक्षा बलों ने रतक्सूना बीरवाह इलाके में पथराव कर रही भीड़ पर गोलियां चलायी जिससे निसार अहमद की मौत हो गयी। बडगाम जिले के चडूरा विधानसभा क्षेत्र के दौलतपुरा में सुरक्षाबलों की गोलियों से शबीर अहमद की मौत हो गयी। यहां से करीब 20 किलोमीटर दूर मगाम कस्बे में पैलेट से घायल एक युवक आदिल फारूक की मौत हो गयी। अपराह्न में बीरवाह इलाके में प्रदर्शनकारियों की भीड़ पर पुलिस की गोलीबारी में एक आकिब वानी मारा गया।

About Anchal Shukla

Young journalist from New Delhi. कराटे में ब्लैकबेल्ट चैंपियन। भरतनाट्यम, कुचिपुड़ी की प्रशिक्षु नृत्यांगना। लचीली पर बेहद मजबूत। राजनीति से लेकर खेलों(हर तरह के खेल), मनोरंजन(हर इंडस्ट्री की खबरें), व्यापार, अंतर्राष्ट्रीय खबरें(व्यापार, तनाव, युद्ध) के साथ ही साहित्य में भी रूचि। सबकुछ समेटे और समाज की बुराइयों से लड़ने की ताकत रखने वाली मजबूत कलमकार बनने की कोशिश...

Check Also

क्या “मिर्ज़ापुर” में पंकज त्रिपाठी का किरदार जौनपुर के सांसद धनंजय सिंह से प्रेरित है?

एक्सेल एंटरटेनमेंट की आगामी वेब श्रृंखला “मिर्ज़ापुर” दिल दहला देने वाले एक्शन के क्षणों से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *