Monday , November 19 2018
Home / देश / प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशवासियों से कहा “नव वर्ष की नई किरण नई सफलताओं का संकल्प लेकर आ रही है, आइए एक नए उज्जवल भविष्य का निर्माण करें”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशवासियों से कहा “नव वर्ष की नई किरण नई सफलताओं का संकल्प लेकर आ रही है, आइए एक नए उज्जवल भविष्य का निर्माण करें”

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशवासियों को संबोधित कर रहे है। उन्होंने संबोधन के दौरान देशवासियों को नववर्ष की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा पहले ईमानदार घुटन महसूस करते थे। दिवाली के बाद की घटनाओं से यह सिद्ध हो चुका है कि लोग करप्शन के घुटन से मुक्त होना चाहते हैं। देश ऐतिहासिक शुद्धि का गवाह बना

पीएम मोदी ने कहा कि बड़े नोट से केवल महंगाई और कालाधन बढ़ रहा था. बड़े नोट गरीबों का हक छीन रहा था. उन्होंने कहा कि कैश अगर अर्थव्यवस्था के साथ तो देश का विकास होता है लेकिन देश में वैसा नहीं हो रहा था. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि हम सच्चाई से कब तक मुंह मोड़ते रहेंगे. ये सरकार सज्जनों की मित्र है और दुर्जनों को सज्जनता के रास्ते पर लौटाने के लिए उपयुक्त वातावरण को तैयार करने के पक्ष में है. कानून अपना काम करेगा. सरकार की प्राथमिकता ईमानदार लोगों को प्रतिष्ठित करने की है. पीएम मोदी ने देश को संबोधित करते हुए पूछा क्या आपको नहीं लगता कि देश की भलाई के लिए ईमानदारी के आंदोलन को और अधिक ताकत देने की जरूरत है.

नोटबंदी के फैसले को तारीफ करते हुए पीएम ने कहा कि हिंदुस्तान ने जो करके दिखाया है, ऐसा विश्व में तुलना करने के लिए कोई उदाहरण नहीं. उन्होंने कहा, ‘बैंकिंग व्यवस्था को सामान्य करने पर ध्यान केंद्रित किया जाए. विशेषकर ग्रामीण इलाकों में, दूर-दराज वाले इलाकों में प्रो-एक्टिव होकर हर छोटी से छोटी कमी को दूर किया जाए’. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार, कालाधन, जालीनोट के खिलाफ लड़ाई में आप एक कदम भी पीछे नहीं रहना चाहते हैं, आपका ये प्यार आशीर्वाद की तरह है. उन्होंने कहा सबका साथ, सबका विकास…इस ध्येय वाक्य को चरितार्थ करने के लिए सरकार कुछ नई योजनाएं ला रही है। अगले तीन महीने में 3 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड को RuPay कार्ड में बदला जाएगा। MSME के लिए, क्रेडिट गारंटी 1 करोड़ से बढ़ा कर 2 करोड़ होगी। 

 
उन्होंने कहा घर की मरम्मत के लिए 2 लाख रुपये के लोन पर ब्याज में तीन फीसदी की छूट मिलेगी। डिस्ट्रिक्ट को-ऑपरेटिव सेंट्रल बैंक और प्राइमरी सोसायटी से जो किसान बुवाई के लिए कर्ज लेंगे उसके 60 दिन का ब्याज सरकार देगी। सीनियर सिटीज़न के खाते में 7.5 लाख तक की रकम पर सालाना 8% ब्याज़ दर फिक्स रहेगी। गर्भवती महिलाओं के लिए 650 से ज्यादा जिलों के अस्पताल में पंजीकरण डिलिवरी टीकाकरण के लिए केन्द्र सरकार 6000 रु. की मदद करेगी। पीएम मोदी ने कहा बेईमनों को बख्शा नहीं जाएगा। बेईमान लोगों को भी अब टेक्नोलॉजी की ताकत के कारण, काले कारोबार से निकलकर कानून-नियम का पालन करते हुए मुख्यधारा में आना होगा। इस अभियान की सफलता इस बात पर भी है कि अर्थव्यवस्था से बाहर जो धन था वो बैंक के जरिये अर्थव्यवस्था में वापस आ गया है।
उन्होंने कहा सचाई और अच्छाई जनता को कितनी अच्छी लगती है यह 8 नवंबर के बाद उन्होंने साबित किया है। लोगों को नोटबंदी के दौरान अपने ही पैसे निकालने के लिए घंटों लाइन में लगना पड़ा, हमें आपकी कठिनाइयों का अहसास है। देशवासियों ने जो संकल्प दिखाया है, एक समय आएगा जब इसकी चर्चा बुद्धिजीवी करेंगे। यह सरकार सज्जनों की मित्र है और दुर्जनों को सज्जन बनाने का माहौल देने के पक्ष में है। कई शहरों में 10लाख से ज्यादा आयवाले लाखों हैं, लेकिन देश में सिर्फ 24 लाख लोग बताते हैं कि उनकी आय 10 लाख से ज्यादा है

 

पीएम की मानें तो देशवासियों ने जो कष्ट झेला है, वो भारत के उज्जवल भविष्य के लिए नागरिकों के त्याग की मिसाल है. हर हिंदुस्तानी के लिए सच्चाई और अच्छाई कितनी अहमियत रखती है. प्रधानमंत्री ने कहा कि जब हम कहते हैं कि ‘कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी’… इस बात को देशवासियों ने जीकर दिखाया है. दीवाली के बाद की घटनाओं से ये सिद्ध हो चुका है कि करोड़ों देशवासी ऐसी घुटन से मुक्ति के अवसर की तलाश कर रहे थे. उन्होंने कहा कि दिवाली के तुरंत बाद हमारा देश ऐतिहासिक शुद्धि यज्ञ का गवाह बना.

नोटबंदी के 50 दिन पूरे होते ही सरकार ने एटीएम से कैश निकालने की लिमिट बढ़ा दी. शुक्रवार यानी 30 दिसंबर को सरकार की ओर से घोषणी की गई कि अब नए साल से लोग हर रोज एटीएम से 4500 रुपये निकाल सकेंगे. नोटबंदी के दौरान एटीएम से 2500 रुपये तक कैश निकालने की लिमिट तय की गई थी. जो 1 जनवरी बढ़ जाएगी और लोगों को राहत मिलेगी. हालांकि बैंक से कैश निकालने की लिमिट नोटबंदी के बाद भी हर हफ्ते 24 हजार रुपये ही है.  इससे पहले 8 नवंबर 2016 को शाम में देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी का ऐलान किया था. पीएम मोदी ने कालेधन और भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए 500 और हजार रुपये के नोट को अवैध करार देते हुए उसे प्रचलन से बाहर करने की घोषणा की थी. इसके लिए उन्होंने देशवासियों से 50 दिन का वक्त मांगा था, 30 दिसंबर को ही नोटबंदी के 50 दिन पूरे भी हो गए. इस दरम्यान लोगों की परेशानी को देखते हुए नोटबंदी के साथ लिए गए फैसलों में कई बार बदलाव भी किए गए. हालांकि नोटबंदी से लोगों को नकदी की काफी दिक्कतें आईं लेकिन फिर भी वो पीएम के फैसले के साथ खड़े दिखे.

About KOD MEDIA

Check Also

Light of Life Trust creates a spectacular theatrical experience for the underprivileged children on Children’s Day

This Children’s Day, Light of Life Trust had organised a very special celebration for its …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *