Saturday , December 16 2017
Home / देश / आर-पार की मूड में आया जदयू, कुनबा बचाने में जुटा राजद और कांग्रेस

आर-पार की मूड में आया जदयू, कुनबा बचाने में जुटा राजद और कांग्रेस

नई दिल्ली। बिहार में महागठबंधन की टूट को लेकर बस तारीख और समय तय होना बाकी है। महागठबंधन के अंदर रार तो काफी दिनों से चल रही थी, लेकिन राष्ट्रपति पद को लेकर जो महागठबंधन के अंदर हालात बने हैं, वो पहले के मुकाबले कहीं ज्यादा तीखे और आक्रामक हैं। एक ओर जहां जीएसटी के बहाने अरुण जेटली और नरेंद्र मोदी से नीतीश की मुलाकात का राजनीतिक जमीन तैयार हो रही है, वहीं राजद किसी कीमत पर गठबंधन तोड़ने की पहल नहीं करना चाहता है।

ऐसे में सबकी नजर कांग्रेस पर टिकी हुई है। महागठबंधन को लेकर अब तक खामोश रही कांग्रेस ने सोमवार को पहली बार नीतीश कुमार पर सीधा हमला बोला। राजद और फिर कांग्रेस नेताओं के बयान से तिलमिलाया जदयू ने भी अपने सभी बयानवीरों को एक साथ मैदान में उतार दिया है। जदयू के राष्ट्रीय महासचिव संजय झा और केसी त्यागी समेत सभी प्रवक्ताओं ने कांग्रेस और राजद पर पलटवार किया है।

इधर, राष्ट्रपति चुनाव में क्रास वोटिंग की खबर से राजद और कांग्रेस के होश उड़ गए। दोनों दल अपना अपना कुनबा बचाने में लग गए हैं। सूत्रों की माने तो राष्ट्रपति चुनाव में कांग्रेस के आधा दर्जन और राजद के कुछ विधायक क्रास वोटिंग कर सकते हैं। इसकी सूचना दोनों दलों के आलाकमान को दी जा चुकी है।

एक तरफ अपना बिखरता कुनबा और दूसरी तरफ  गठबंधन को लेकर जदयू का समीक्षात्मक मूड से राजद पूरी तरह बैकफुट पर आ गया है। सूत्रों की माने तो खुद को नेता प्रतिपक्ष के लिए तैयार कर चुके तेजस्वी ने लालू के कहने पर ही नरम रुख अख्तियार किया है और कहा है कि गठबंधन पर बयान अब केवल लालू प्रसाद ही देंगे।

इधर, लालू ने भी पार्टी विधायक भाई बीरेंद्र को तलब कर जमकर फटकार लगाई। साथ ही राजद ने अशोक सिन्हा को प्रवक्ता पद से हटा दिया है। राजद की इस कार्रवाई से जदयू संतुष्ट नहीं है। जदयू प्रवक्ता संजय सिंह कहते हैं कि राजद इन्हें पार्टी से बाहर करे। एक अन्य प्रवक्ता अजय आलोक कहते हैं कि छोटे मोटे नेता जिस प्रकार नीतीश कुमार को गाली दे रहे हैं यह बर्दाश्त करने लायक बात नहीं है।

जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि जिस नीतीश कुमार के कारण राजद नेता आज सत्ता भोग रहे हैं, वही नीतीश को गाली दे रहे हैं, लालू जी ऐसे नेताओं को कब पार्टी से निकाल रहे हैं यह बताएं। जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि गठबंधन की जीत नीतीश के चेहरे पर हुई है और इसको लेकर जिन्हें भ्रम है वो भ्रम दूर कर लें। केसी त्यागी ने कहा कि जदयू महागठबंधन की नौकरानी नहीं है। वहीं, संजय झा ने कहा कि सामाजिक न्याय का मतलब नीतीश कुमार हैं।

About Web Team

Check Also

Padmawati, Deepika Padukone, Sanjay Lila Bhansali, Ranveer Singh, Alauddin Khilaji, Rajput, Mewad, Karni Sena

फेसबुक पोस्ट से गिरफ्तारी, भंसाली-दीपिका को खुलेआम मारने की धमकी देने वाले बाहर कैसे?