Wednesday , April 24 2019
Home / धर्म-कर्म / मिथिला स्टूडेंट यूनियन द्वारा सेमिनार का आयोजन

मिथिला स्टूडेंट यूनियन द्वारा सेमिनार का आयोजन


मधुबनी(बिहार):

आज मिथिला स्टूडेंट यूनियन बासोपट्टी प्रखंड टीम के द्वारा सेमिनार का आयोजन किया गया, जिसमें 5 अगस्त को दिल्ली में मिथिला बिकास बोर्ड के गठन के मांगो को लेकर लॉग मार्च पर बात चीत किया गया जिस में मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय सचिव व महाराष्ट्रा प्रभारी सैयद शाहनवाज अहमद थे।
सेमिनार को संबोधित करते हुए सैयद शाहनवाज अहमद ने कहाँ की 2011 के सेंशस डाटा से मिथिला क्षेत्र के जिलों सम्बंधित डाटा कैलकुलेट करेंगे तो मिथिला क्षेत्र के जिलों का एवरेज लिटरेसी रेट ( 55.95℅) मगध और भोजपुर क्षेत्र के जिलों के एवरेज लिटरेसी रेट (66.45%) की अपेक्षा 11% प्रतिशत कम है। जबकि बिहार राज्य का औसत लिटरेसी रेट (61.80%) है और सम्पूर्ण भारत के एवरेज लिटरेसी रेट (74.04%) से हम लगभग 20% कम हैं।
2001 आसपास में भी यही हाल था। उस वक्त जब भारत का लिटरेसी रेट 64.84% हुआ करता था और बिहार का एवरेज 47%, तब भी मिथिला क्षेत्र के जिलों का औसत लिटरेसी रेट लगभग 38.5 % ही था।
तनिक सोचिएगा। ये डाटा बहुत कुछ बताता है। एक बात पे गौर कीजिएगा की मौजूदा सेंशस के हिसाब से भारत के किसी आम जिले और मगध-भोजपुर क्षेत्री जिले के औसत लिटरेसी रेट में जितना फर्क है (74-66=8%) उससे भी ज्यादा फर्क बिहार के मगध-भोजपुर क्षेत्री जिले और मिथिला क्षेत्री जिले के एवरेज लिटरेसी रेट में है (66-55=11%)मतलब समझे ? जितना पिछड़ा बिहार है पूरे देश के रिस्पेक्ट में, उससे भी ज्यादा मिथिला पिछड़ा है पूरे बिहार के रिस्पेक्ट में, देश के एवरेज से कम्पेरिजन की कल्पना तो छोड़ ही दीजिए। फिर मिथिला को स्पेशल केयर क्यों न मिले विकास के आधार पर ? क्यों  केंद्र सरकार और राज्य सरकार स्पेशल प्लान नहीं बनाती है मिथिला के लिए।
वही सेमिनार को संबोधित करते हुए बासोपट्टी अध्यक्ष बिक्की सिंह ने कहा की मिथिला विकास बोर्ड बनने से क्षेत्र में कृषि,शिक्षा,स्वास्थ्य,इंडस्ट्रीयल डेवलमेंट,कला व संस्कृति,पर्यटक,संबंधित प्रोजेक्ट बाढ़ सुखार आपदा प्रबंधन सोशल रिफॉर्मेंट जैस विषयों को मजबूत करेगी इस लिए मिथिला विकास बोर्ड के गठन को लेकर केंद्र सरकार जल्दी से जल्दी पहल करें और आने वाले दिनों में सरकार के तरप से ठोष कदम उठाया जाय नही मिथिला स्टूडेंट यूनियन सरकार को करारा जबाब देने से नही चुकेगा। वही प्रखंड प्रवक्ता आनंद कुमार उर्फ लाला जी ने बताया कि मिथिला विकास बोर्ड के जरिये उत्तरबिहार के 20 जिलों को विकसित मिथिला की कल्पना मिथिला स्टूडेंट यूनियन ने की है। इस लिए 5 अगस्त को दिल्ली में होने वाले लॉग मार्च में बासोपट्टी से अधिक से अधिक आम जन शामिल हो।
सेमिनार में कोषाध्यक्ष अजय कुमार, सचिव अभिषेक कुमार, उपाध्यक्ष सुरेंद्र कुमार किशन,जितेंद्र, अर्जून, जावेद,विनोद, आदर्श के साथ सैकड़ो लोग मौजूद थे।

About RITESH KUMAR

Check Also

आर.जे अमित द्विवेदी बने अंतरराष्ट्रीय मानव अधिकार मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष

  एफ.एम रेनबो,107.1 एफ.एम में अपनी आवाज से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध करने वाले आर.जे अमित …