Wednesday , April 25 2018
Home / देश / ‘नकद से होती है भ्रष्टाचार की शुरूआत, नोटबंदी का निर्णय हड़बड़ी में नहीं लिया गया: PM MODI

‘नकद से होती है भ्रष्टाचार की शुरूआत, नोटबंदी का निर्णय हड़बड़ी में नहीं लिया गया: PM MODI

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री मोदी लोकसभा में बजट सत्र के छठे दिन राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चल रहे धन्यवाद प्रस्ताव पर बहस का जवाब दे रहे हैं। इस दौरान पीएम मोदी ने राष्ट्रपति और विपक्ष के तमाम नेताओं का धन्यवाद किया। वही कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। पीएम मोदी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि आखिर भूकंप आ ही गया, धमकी पहले सुनी जाती थी। कोई वजह तो होगी कि धरती मां रुठी। भूकंप की धमकी तो पहले ही दी गई थी लेकिन भूकंप आखिरकार कल आ ही गया।

पीएम ने कांग्रेस से सवाल किया कि राजीव गांधी के कार्यकाल में 1988 में पास हुए बेनामी कानून को 26 सालों तक अधिसूचित क्यों नहीं किया गया। नोटबंदी के फैसले पर पीएम ने कहा कि हमें चुनाव की चिंता नहीं देश की चिंता है। नोटबंदी और बेनामी संपत्ति पर उन्होंने कहा कि आप कितने ही बड़े क्यों न हों , गरीब के हक का लौटाना होगा। मैं इस रास्ते से पीछे हटने वाला नहीं हूं।

उन्होंने कहा कि स्कैम में सेवाभाव देखने पर धरती मां भी हिल जाती है। पीएम के इस बयान पर लोकसभा में काफी हंगामा भी हुआ। दरअसल राहुल गांधी ने एक बार अपने बयान में कहा था कि संसद में मैं बोलूंगा तो भूकंप आ जाएगा। देशभक्ति के सवाल पर मोदी ने कहा कि हममें से कई लोग हैं जो देश के लिए जान नहीं दे पाएं लेकिन हम देश के लिए जी तो सकते ही हैं। इनके (कांग्रेस) मुंह से सुनने को नहीं मिला है कि कोई भगत सिंह, आजाद भी थे। इनको लगता है कि आजादी सिर्फ एक परिवार ने दिलाई है।

पीएम मोदी ने लोकसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के बयान पर पलटवार किया और कहा कि कांग्रेस ने बड़ी कृपा की जो लोकतंत्र बचाया। पूरा लोकतंत्र एक परिवार के नाम कर दिया। कांग्रेस ने पूरा लोकतंत्र एक परिवार को आहूत कर दिया। 1975 के आपातकाल में देश जेल बन गया था। इस दौरान लोकतंत्र को कुचला गया। इस दौरान अखबारों पर ताला लगा दिया गया। जननेताओं को जेल में डाल दिया गया। यह जनशक्ति की ताकत थी कि देश उस समय बाहर निकला और फिर से लोकतंत्र की स्थापना हुई। उसी जनशक्ति की वजह से एक गरीब मां का बेटा देश का प्रधानमंत्री बन पाया।

उन्होंने कहा कि विपक्ष को लगता है कि आजादी एक परिवार ने दिलाई है। कांग्रेस की स्थापना से पहले ही लोगों ने देश की आजादी के लिए लड़ाइयां लड़ी। देश की आजादी की लड़ाई के वक्त भी कमल था और अब भी कमल है। कुछ लोगों ने स्वच्छ भारत के अभियान को भी राजनीतिक मुद्दा बना दिया। उन्होंने कहा कि हम देश के लिए जीने की कोशिश कर रहे हैं। नोटबंदी पर चर्चा के लिए हम हमेशा तैयार थे लेकिन विपक्ष तैयार नहीं हुआ। नोटबंदी के लिए जो समय हमने चुना वह बिल्कुल सही समय था। उस समय देश की अर्थव्यवस्था नोटबंदी के लिए बिल्कुल अनुकूल थी।

पीएम ने कहा कि खड़गे जी कहते हैं कि काला धन, सोने, प्रॉपर्टी, हीरे में है। सदन जानना चाहता है कि ये ज्ञान कब हुआ आपको? ये कोई इंकार नहीं कर सकता कि करप्शन कि शुरूआत नगद से होती है। आपको मालूम है कि यही बुराइयों के केंद्र में है। 1988 में जब राजीव गांधी जी पीएम थे, दोनों सदन में बहुमत था। पंचायत से पार्लियामेंट तक सबकुछ आपके कब्जे में था। तो आपने बेनामी संपत्ति का कानून बनाया, क्या कारण था कि 26 साल तक कानून को नोटिफाइ नहीं किया?

About Team Web

Check Also

जस्टिस लोया केस: नहीं होगी SIT जांच, सुप्रीम कोर्ट ने ठुकराई याचिका

नई दिल्ली: सीबीआई के स्पेशल जज बीएच लोया की मौत के मामले में निष्पक्ष जांच …