Thursday , January 24 2019
Home / लाइफस्टाइल / इन तरीकों से आप रिश्ते को बना सकते हैं खुशहाल
Parent-Child Relationship

इन तरीकों से आप रिश्ते को बना सकते हैं खुशहाल

नई दिल्ली: आजकल के बच्चे जो काम बड़ों को करते देखते हैं, वही सीखते भी हैं. यदि पति-पत्नी के बीच रिश्ता बिलकुल भी सही नहीं चल तो इसका असर बच्चों पर भी देखा जाता है यदि ये परेशानी जारी रही तो इसका असर उनकी आगे की जिंदगी पर भी पड़ता है. इसके साथ-साथ वो हमेशा अपने रिश्ते को लेकर असुरक्षित महसूस करते हैं.

वहीं यदि माता-पिता के बीच का रिश्ता यही तरीके से चल रहा है तो उस परिवार के बच्चे हर क्षेत्र में अच्छा करते हैं. तो आइये हम ये जानने की कोशिश करते है की किन-किन तरीकों से आप रिश्ते को सुचारु ढंग से खुशहाल बना सकते हैं और अपने बच्चों को एक अच्छी परवरिश दे सकते हैं.

हमेशा ये करें प्रयास बच्चे के सामने आपस में बहस न करें

बच्चें इस बात पर ज्यादा ध्यान देते हैं की हमारे माता-पिता आपस में किस तरह से बातें करते हैं. यदि वो हर वक़्त गुस्से से बात करें, आपस में बहस किया करते है तो ज्यादा उम्मीद है की बच्चा भी यही सीखता सकता है. प्रयास करें कि बच्चों के सामने आपस में बिलकुल भी बहस न करें हुए अपनी मतभेद अकेले में ही सलटाये

बच्चों को कभी भी छोटा समझने की ना करे भूल

यदि आपको लगता है की हमारे बच्चें छोटे है इसीलिए कुछ समझ नहीं सकते है तो आप इस गलतफहमी में बिलकुल भी ना रहे क्योंकि उनकी महसूस करने की क्षमता काफी बेहतर देखी गई है. यदि आप दोनों पति-पत्नी के बीच के रिश्ते में ठंडापन आ गया है तो आप लाख दिखावा करें, कितना भी हंसे-बोलें पर बच्चे ये भांप लेते हैं. इसीलिए रिश्ते में आई ठंडेपन को समाप्त करने के तरीके खोजना शुरू कर दे.

बच्चें सीखते है तुरंत

हर बच्चों में एक अलग ही गुण होता है जिसकी वजह से ये हर चीजों को लेकर सजग रहते है सीखते रहने का प्रयास लगातार करते है. यदि आप एक-दूसरे के छोटे-छोटे कामों की सराहना करते हैं तो बच्चा भी वैसी ही चीजें सीखता है. जिसकी वजह से आपका रिश्ता और भी निखरेगा, इसीलिए बच्चे के छोटे-छोटे प्रयासों की भी सराहना जरूर करें.

पति-पत्नी ही है परिवार की गाड़ी

पति और पत्नी ही है परिवार की गाड़ी जिसकी वजह से ही परिवार चलती है. ऐसा बिलकुल भी ना करे की किसी एक के ऊपर सारे काम का बोझ आ जाए. साथ मिल-जुलकर जिम्मेदारियों को उठाएं. किचन से लेकर बाहर के कामों को भी बांटकर करने का प्रयास करें. इस तरह काम करने से बच्चा भी मिलकर-जुलकर काम करने का अर्थ समझ सकेगा।

About RITESH KUMAR

Check Also

प्रियंका गांधी करेंगी इंदिरा गांधी सा कमाल, वापसी कर लेगी कांग्रेस

नई दिल्ली। प्रियंका गांधी…एक ऐसा चेहरा.. जिसके राजनीति में आने के कयास लंबे समय से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *