Sunday , February 24 2019
Home / देश / टोक्‍यो में भारतवंशियों से बोले PM मोदी, ‘हर कोने में देश का नाम रोशन करें’

टोक्‍यो में भारतवंशियों से बोले PM मोदी, ‘हर कोने में देश का नाम रोशन करें’

नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने जापान दौरे के दौरान वहां बसे भारतीयों से भी मुलाकात की. पीएम मोदी टोक्‍यों में आयोजित भारतवंशियों के एक कार्यक्रम में शामिल हुए. इस दौरान उन्‍होंने भारत की उपलब्धियों को सभी के सामने पेश किया. उन्‍होंने कहा ‘जिस तरह दिवाली में दीपक जहां रहता है, वहां उजाला फैलाता है. उसी तरह आप भी जापान और दुनिया के हर कोने में अपना और देश का नाम रौशन करें. मेरी आप सबके लिए मेरी यही शुभकामना है.’

पीएम मोदी ने भारतीयों को संबोधित करते हुए कहा कि जापान में बसे भारतीयों ने जापानी दोस्तों के साथ मिलकर हमेशा से ही देश के लिए बहुत बड़ा योगदान दिया है. स्वामी विवेकानंद जी को, नेताजी सुभाष चंद्र बोस को, भारत की आजादी के आंदोलन को जो सहयोग जापान से मिला है, वो करोड़ों भारतीयों के दिल में हमेशा रहेगा.

उन्‍होंने कहा कि भारत में चल रही डिजिटल ट्रांजेक्‍शन की हमारी आधुनिक व्यवस्था, जैसे भीम एप और रुपे कार्ड, इनको लेकर भी दुनिया के अनेक देशों में उत्सुकता है. मेक इन इंडिया आज ग्‍लोबल ब्रांड बनकर उभरा है. आज हम ना सिर्फ भारत के लिए बल्कि दुनिया के लिए बेहतरीन उत्‍पाद बना रहे हैं. विशेषतौर पर इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स और ऑटोमोबाइल मैन्‍युफैक्‍चरिंग में भारत ग्‍लोबल हब बनता जा रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि हमने बहुत ही कम खर्च में चंद्रयान और मंगलयान अंतरिक्ष में भेजा. अब 2022 तक भारत गगनयान भेजने की तैयारी में जुटा है. ये गगनयान पूरी तरह से भारतीय होगा और इसमें अंतरिक्ष जाने वाला भी भारतीय होगा. बुलेट ट्रेन से लेकर स्‍मार्ट सिटी तक आज जो न्‍यू इंडिया का नया इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार हो रहा है. उसमें जापान की भागीदारी है. भारत की मैन पावर, भारत की युवा शक्ति को भी जापान की स्किल का लाभ मिल रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत में नीतियों का निर्माण हो रहा है. जनसेवा के क्षेत्र में काम किए जा रहे हैं. उसकी दुनिया भर में तारीफ और चर्चा की जा रही है. चैम्पियंस ऑफ अर्थ एंड सियोल पीस प्राइज के तौर पर भारत को सम्मानित किया गया. भले ही मोदी को सम्मानित किया गया हो, लेकिन मेरा योगदान माला के उस धागे की तरह है जो मनके को पिरोता है और संगठित होकर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है. उन्‍होंने कहा कि हमारा देश आप जैसे मोतियों से भरा पड़ा है. सिर्फ एक संगठित प्रयास की आवश्यक्ता थी जो पिछले 4 सालों से हम कर रहे हैं.

About RITESH KUMAR

Check Also

आदिवासियों की समस्या को उजागर करती टी-सीरीज की शार्ट फिल्म ” जीना मुश्किल है यार” विश्व फ़िल्मफेस्टिवल में  

   आदिवासियों की समस्या को उजागर करती शार्ट फिल्म ‘ जीना मुश्किल है यार’ का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *