Monday , November 19 2018
Home / देश / PNB को चूना लगाने वाले नीरव मोदी और उसके परिवार के भागने की ये है तारीखें!
‪‪Punjab National Bank‬, ‪Nirav Modi‬, ‪Narendra Modi‬‬,Punjab National Bank‬, ‪Securities and Exchange Board of India‬, ‪Reserve Bank of India,pnb share price,Punjab National Bank‬, ‪Mukesh Ambani‬, ‪Dhirubhai Ambani‬‬

PNB को चूना लगाने वाले नीरव मोदी और उसके परिवार के भागने की ये है तारीखें!

नई दिल्लीः पंजाब नेशनल बैंक को 11,400 करोड़ रुपये का चूना लगाने वाले ज्वैलरी कारोबारी नीरव मोदी से जुड़ी संपत्तियों पर गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) छापेमारी की. पीएनबी ने बुधवार को कहा था कि उसने 1.77 अरब डॉलर या 11,400 करोड़ रुपये का घोटाला पकड़ा है. इस मामले में फोर्ब्स की भारतीय अमीरों सूची में शामिल रहे आभूषण कारोबारी नीरव मोदी ने कथित रूप से उसकी मुंबई की शाखा से धोखाधड़ी करके गारंटी पत्र (एलओयू) हासिल किए थे. इन एलओयू के जरिये अन्य भारतीय बैंकों से विदेशों में कर्ज लिया गया था.

पीएनबी की शिकायत के बाद प्रवर्तन निदेशालय ने गुरुवार को मनी लांड्रिंग मामले में मोदी और अन्य के ठिकानों में छापेमारी की. पीएनबी ने इस मामले में दस अधिकारियों को निलंबित कर दिया है तथा मामले को सीबीआई के पास जांच के लिए भेज दिया है. पीएनबी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक सुनील मेहता ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बैंक ने इस मामले में दोषियों के खिलाफ हरसंभव कार्रवाई करेगा. मेहता ने कहा कि पिछले 123 सालों में हमने काफी उतार-चढ़ाव देखा है. बैंक गड़बड़ी करने के खिलाफ पूरी क्षमता से कार्रवाई की जाएगी और उन्हें सजा दिलाई जाएगी.

इस पूरे मामले पर सीबीआई के अधिकारी की तरफ से दावा किया गया कि जांच एजेंसी तक पहली शिकायत पहुंचने से पहले ही नीरव मोदी देश छोड़कर जा चुका है. अधिकारी ने यह भी बताया कि 31 जनवरी 2018 को पहली प्राथमिकी दर्ज करने के बाद नीरव मोदी के खिलाफ लुक आउट जारी किया है. नीरव अकेले ही देश छोड़कर नहीं गए है. नीरज का परिवार भी देश छोड़कर जा चुका है. आपको बताते हैं कि किस तरह से नीरव और उसके परिवार ने अलग-अलग तारीखों पर देश छोड़ा

1 जनवरी 2018 को नीरव मोदी ने देश छोड़ा

1 जनवरी को 2018 को ही नीरव मोदी के भाई निश्चल मोदी (बेल्जियम के नागरिक) ने भारत छोड़ा

4 जनवरी को मेहुल चोकसी (नीरव के चाचा) ने देश छोड़ा

6 जनवरी 2018 को नीरव मोदी की पत्नी (अमेरिकी नागरिक) ने देश छोड़ा

29 जनवरी 2018 को PNB ने सीबीआई में शिकायत दर्ज कराई

31 जनवरी को CBI ने नीरव के खिलाफ केस दर्ज किया

31 जनवरी को ही CBI ने सभी आरोपियों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया

इससे पहले ज्वेलरी डिजाइनर नीरव मोदी और कुछ अन्य के खिलाफ 280 करोड़ रुपये की मनी लांड्रिंग के आरोपों की जांच के सिलसिले में गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने देश में कई जगह छापेमारी की. यह कार्रवाई पंजाब नेशनल बैंक की शिकायत के आधार पर की जा रही है.

कम से कम 10 जगह छापे डाले गए

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि तड़के शुरू हुई कार्रवाई में मुंबई, गुजरात और दिल्ली में कम से कम 10 जगह छापे डाले गए. प्रवर्तन निदशालय के अधिकारियों ने जिन जगहों पर यह कार्रवाई की, उनमें मोदी का मुंबई के कुरला इलाके का घर, काला घोड़ा इलाके की डिजाइनर आभूषणों की दुकान, बांद्रा और लोअर परेल इलाके में कंपनी के तीन ठिकाने, गुजरात के सूरत में तीन ठिकाने और दिल्ली के डिफेंस कालोनी और चाणक्यपुरी इलाके में मोदी के शो-रूम शामिल हैं. प्रवर्तन निदेशालय ने मामले में सीबीआई में इस माह के शुरू में दर्ज एक प्राथमिकी (एफआईआर) के आधार पर मनी लांड्रिंग निरोधक अधिनिमय (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज किया है.

समझा जा रहा है कि ईडी ने पीएनबी की ओर से मोदी और अन्य के खिलाफ प्रस्तुत की गई शिकायातों पर भी गौर किया है. सीबीआई ने नीरव मोदी, उसकी पत्नी और उसके एक भागीदार को बैंक के साथ 2017 में 280.70 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में नामजद किया है. प्रवर्तन निदेशालय की टीमों ने नीरव मोदी के भाई निशाल, पत्नी अमी और मेहुल चीनूभाई चोकसी तथा दो नामजद बैंक अधिकारी गोकुलनाथ शेट्टी और मनोज खराट के घरों पर भी तलाशी की. निशाल, अमी और मेहुल ये सभी डायमंड आर यूएस, सोलार एक्सपोर्ट्स और स्टेलर डामंड्स में भागीदार है. शेट्टी सेवानिवृत्त हो चुका है.

सीबीआई की प्राथमिकी में कहा गया है कि इन सरकारी (बैंक) अधिकारियों ने उपरोक्त फर्मों को धन का लाभ पहुंचाने के लिए अपने आधिकारिक पद का दुरुपयोग किया जिससे 2017 में पंजाब नेशनल बैंक को 280.70 करोड़ रुपये का गलत तरीके से नुकसान हुआ. बैंक ने यह भी शिकायत की है कि उसके यहां से धोखाधड़ी कर के आरोपी इकाइयों के पक्ष में या उनकी ओर से 16 जनवरी 2018 को कुछ साख-पत्र जारी किए गए.

इन इकाइयों ने बैंक की मुंबई स्थित संबंधित शाखा को आयात संबंधी कुछ दस्तावेज दिए थे और आवेदन किया था कि माल भेजने वाली विदेशी इकाइयों के भुगतान के लिए क्रेता की ओर से साख पत्र जारी कर दिए जाएं. सीबीआई को गुरुवार को पीएनबी की ओर से दो और शिकायतें मिलीं. इनमें बैंक ने अब कहा है कि नीरव मोदी और एक आभूषण कंपनी ने उसके साथ सौदों में 11,400 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की है.

About KOD MEDIA

Check Also

Light of Life Trust creates a spectacular theatrical experience for the underprivileged children on Children’s Day

This Children’s Day, Light of Life Trust had organised a very special celebration for its …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *