Tuesday , August 22 2017
Home / Tag Archives: avyact agrawal

Tag Archives: avyact agrawal

यादों में गीतकार समीर: न जाने कितने समीर टूट कर रोज़ बिखरते होंगे डायरी के पन्नों की तरह!

मैं गीतकार समीर का इंटरव्यू सुन रहा था। उनका नाम गिनीज़ बुक में सबसे ज़्यादा गीत लिखने के लिए लिखा गया। वे फ़िल्म गीतकार अनजान के बेटे हैं। अनजान का जीवन और कैरियर बेहद संघर्षों भरा रहा फ़िल्म इंडस्ट्री में। इसलिए अनजान ने कभी नहीं चाहा कि उनका बेटा इस काम …

Read More »

आखिर टीवी और विडियो गेम्स कितना?

मैंने देखा है बहुत से माता पिता बच्चों को स्मार्ट फ़ोन विडियो गेम खेलने के लिए लगभग रोज़ ही देते हैं। विडियो गेम्स लत लगाने वाले होते हैं और बच्चों के मस्तिष्क के लिए अच्छे नहीं। विडियो गेम में ख़राब समय का सदुपुयोग उन्हें बाहर के खेल के लिए प्रोत्साहित …

Read More »

वो अधूरी कहानी…!

वो अधूरी कहानी…! दादा जी के साथ वो रोज़ गंगा किनारे काशी में सुबह टहलने जाता। और उन खूबसूरत सुबहों में वो कहानियां सुना करता। दादा जी को वो बाबा साहब कहता था। बाबा साहब से घर में सब डरते थे बस कन्हैया को छोड़ कर। बाबा साहब यूँ तो …

Read More »

पार्टियों में नहीं, आम और ख़ास में बंटी है दुनिया!

नई दिल्ली। हम सब समझते हैं दुनिया विचारधारा और पार्टियों में बंटी हुई है। कोई कांग्रेसी है तो कोई भाजपाई कोई बसपा कोई सपा कोई आप। लेकिन मैंने जो अनुभव किया वह इसका ज़रा उलट है। ऊपर दी हुई विचारधारा और उनके लोगों के लिए लड़ते आम लोगों ने किसी …

Read More »

Breast feeding vs Formula feed: स्तन पान या डब्बे का दूध!

नई दिल्ली: ‘माँ का दूध पिया हो तो आ जा लड़ ले’ इस तरह की कहावत शायद ही कोई भारतीय हो, जिसने न सुनी हो। जिसका निहित अर्थ ही यह है कि माँ का दूध पीने वाले बच्चे हिम्मती और ताकतवर होते हैं। मतलब यह कि भारतीय संस्कृति में माँ …

Read More »

विज्ञान और दर्शन, पहचानो खुद को!

नई दिल्ली। हमारे शरीर की कोशिकाओं में मौजूद लगभग 25000 जीन्स के अलग-अलग कॉम्बिनेशन की वज़ह से अलग अलग तरह के अरबों मनुष्यों का निर्माण होता है। चैस के 64 खानों और मात्र 32 मोहरों से लाखों अलग-अलगचालें और चैस गेम बन जाते हैं। फिर माँ के 25000 और पिता के …

Read More »