Sunday , February 24 2019
Home / क्राइम / हापुड़: शुक्रिया SO कोतवाली महावीर सिंह!, नालायक बेटों की ‘मार’ से मजूबर मां को दिलाया न्याय
भावुक करने वाली तस्वीर

हापुड़: शुक्रिया SO कोतवाली महावीर सिंह!, नालायक बेटों की ‘मार’ से मजूबर मां को दिलाया न्याय

हापुड़: एक मां तीन-तीन बेटों को पाल-पोष कर बड़ा करती है लेकिन जब वही बच्चे बड़े हो गए तो अपनी मां को भूल गए और मां को सड़क पर छोड़ देते हैं। तभी उस बुजुर्ग और मजबूर मां पर कोतलावी थाने के एसओ महावीर सिंह की नजर पड़ती है।

इन्स्पेक्टर कोतवाली महावीर सिंह (हापुड़) की क्षेत्र भ्रमण के दौरान नज़र पड़ी। उत्सुकतावश पूछ बैठे-माता जी आप रो क्यूँ रहीं हैं? बुजुर्ग महिला पहले तो कुछ बताने को तैयार नहीं लिहाजा इंस्पेक्टर महावीर सिंह उन्हें अपने साथ थाने लाना उचित समझते हैं।

थाना लाकर महिला को वह चाय-पानी पिलाते हैं और फिर उनसे पूछते हैं कि आखिर उन्हें क्या तकलीफ है। जब बुजुर्ग महिला ने अपनी कहानी बताई तो थाने में मौजूद हर कोई हक्का बक्का रह गया। बुजुर्ग महिला ने बताया कि मेरे तीन बेटे हैं, एक सरकारी नौकर है और दो बेटे अपना व्यापार करते हैं। मेरे पति का दो वर्ष पूर्व देहावसान हो चुका है। मुझे उन्होंने घर से निकाल दिया है…मैं अब इस उम्र में कहाँ जाऊँ…? इतना कह रोने लगी।

भावुक करने वाली तस्वीर

इन्स्पेक्टर ने ग्राम प्रधान के माध्यम से बेटों से फ़ोन कर बात की और उन्हें समझाया कि एक माँ ने तुम तीन-तीन पुत्रों को पाल लिया जब तुम छोटे थे। आज तुम बड़े हो गए और माँ असहाय हो गयी तो तुम 3 बेटों से एक माँ नहीं पाली जा रही.. धिक्कार है तुम पर। काफ़ी समझाने के बाद जब उनकी समझ में आ गया तो बेटे “माँ” को रखने के लिए तैयार हो गए।

फूट-फूटकर रोई मां की ममता:

एक पल जब उस माँ को लगा कि अब बेटे मुझे ले जाने को तैयार हैं तो फिर से इन्स्पेक्टर साहब के सीने से लिपट गयी और रोने लगी। जब उनसे इंस्पेक्टर ने रोने का कारण पूछा तो बोली मुझे डर लग रहा है कि आप मेरे बच्चों को जेल में न डाल दें। जिसपर इंस्पेक्टर ने आश्वासन दिया कि वह उनके बच्चों के खिलाफ कोई कार्यवाई नहीं करेंगे तब जाकर वो माँ अपने बच्चों के साथ घर वापस गयी।

About RITESH KUMAR

Check Also

आदिवासियों की समस्या को उजागर करती टी-सीरीज की शार्ट फिल्म ” जीना मुश्किल है यार” विश्व फ़िल्मफेस्टिवल में  

   आदिवासियों की समस्या को उजागर करती शार्ट फिल्म ‘ जीना मुश्किल है यार’ का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *