Sunday , February 24 2019
Home / मनोरंजन / सांप, नाव, चमगादड़ और एक पाल्की – थाईलैंड में ठग्स ने एडवेंचर का लिया भरपूर आनंद!

सांप, नाव, चमगादड़ और एक पाल्की – थाईलैंड में ठग्स ने एडवेंचर का लिया भरपूर आनंद!

 फ़िल्म को माल्टा और थाईलैंड जैसे कई विदेशी वैश्विक स्थानों पर फ़िल्माया गया है। थाईलैंड में, टीम ने रेन फारेस्ट और सुरम्य बोरा द्वीप में फ़िल्म की शूटिंग को अंजाम दिया है लेकिन उन्हें पता नहीं था कि यह एक एडवेंचर में तब्दील हो जाएगा।

अमिताभ बच्चन ने खुलासा किया, “मैं इस सीक्वेंस को शूट करने के लिए थाईलैंड जाने के लिए इच्छुक विक्टर की उत्सुकता को समझ नहीं पाया लेकिन उन्होंने कहा कि हमें एक अद्भुत स्थान मिला है और मैं यह जाना चाहता हूं। मुझे यह स्वीकार करना होगा कि जब मैं वहां गया और जगह देखी तो वह बिल्कुल अद्भुत नज़ारा था। यह एक विशाल गुफा है, लगभग 20 से 30 फ्लोर ऊंची हैंl कल्पना करना मुश्किल है कि प्रकृति कैसे इसे बनाने में सक्षम रही होगी। चट्टानों से अचानक विशाल सांप दिखाई देने लगते थे। कई बार तो वहाँ हर कोई रबड़ सांप फेंक कर  दूसरों की चुटकी भी लेने लगता था।”

विक्टर ने द्वीप पर एक गुफा को खुदाबक्ष (अमिताभ बच्चन द्वारा निभाई गयी भूमिका) के छिपने की जगह के रूप में चुना था। लेकिन सेट तक पहुंचने के लिए अमिताभ बच्चन के लिए तकिल्फ़दाय था, जिन्हें गुफा तक पहुंचने के लिए आधे घंटे से अधिक समय तक चलना पड़ा। इसिलए सिर्फ उनके लिए, टीम ने एक पाल्की का निर्माण किया!

अमिताभ ने आगे बताया,”मुझे चलने के वक़्त बहुत सारी समस्याओं से गुज़रना पड़ता था। यह चूंकि यह पहाड़ था, इसिलए इसमें चढ़ाई शामिल थी। मुझे सांस लेने की समस्या है। मैंने दो तीन बार कोशिश की लेकिन मुझसे यह नहीं हो रहा था। उन्होंने उदारता से मेरे लिए एक पाल्की बनाई, जिसमें बिठाकर कर मुझे शूटिंग के स्थान पर ले जाया जाता था।”

यश राज फिल्म की मेगा एक्शन एडवेंचर “ठग्स ऑफ हिन्दोस्तां” में अद्भुत विसुअल आपके होश उड़ा देंगेफिल्म में फिरंगी मल्ला की भूमिका निभा रहे आमिर खान थाईलैंड में इस जगह को देख कर मंत्रमुग्ध हो गए थे। इस अविश्वसनीय स्थान के बारे में बात करते हुए आमिर ने कहा,”जब मैं पहली बार वहां गया, तो मैं पोडा नुई द्वीप की सुंदरता से अचंभित हो गया था। यह वास्तव में छिपने की जगह की तरह दिखाई दे रहा था। इन विशाल गुफा की भीतर से एक नदी बह रही थी। यह एक शानदार स्थान है।”

About MD MUZAMMIL

Check Also

आदिवासियों की समस्या को उजागर करती टी-सीरीज की शार्ट फिल्म ” जीना मुश्किल है यार” विश्व फ़िल्मफेस्टिवल में  

   आदिवासियों की समस्या को उजागर करती शार्ट फिल्म ‘ जीना मुश्किल है यार’ का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *