Sunday , February 24 2019
Home / मनोरंजन / ठग्स ऑफ हिन्दोस्तां” में अमिताभ बच्चन ने गाई लोरी

ठग्स ऑफ हिन्दोस्तां” में अमिताभ बच्चन ने गाई लोरी

इस गुरुवार रिलीज होने वाली “ठग्स ऑफ हिन्दोस्तां ” का यह  निश्चित रूप से सबसे बड़ा सीक्रेट है जिसे अभी तक गुप्त रखा गया था। एक ख़ुफ़िया जानकारी के अनुसार, अमिताभ के किरदार खुदाबक्श ने फ़िल्म में फतिमा साना शेख द्वारा अभिनीत ज़ाफिरा के लिए भावपूर्ण लोरी गाई है जो दोनों के बीच रिश्ते को दर्शाती है। ज़ाफिरा के जीवन में खुदाबक्श उनके पिता की तरफ हैं और उन्होंने किसी भी कीमत पर ज़ाफिरा की रक्षा करने की कसम खाई है। हालांकि हम यह नहीं जानते कि जाफिरा के माता-पिता के साथ क्या होता है जो खुदाबक्श को उनकी देखभाल करने पर मजबूर कर देता है, लेकिन इतना तो निश्चित हैं कि यह स्क्रिप्ट का सबसे महत्वपूर्ण अंश है जो हर साजिश को अंजाम देता है।
सूत्रों की माने तो,”विक्टर बाप-बेटी के बीच खूबसूरत रिश्ते को दिखाना चाहते थे जो तब से विकसित होता है जब जाफिरा एक बच्ची थी। वह ज़ाफिरा के मन में बसे खुदाबक्श के प्रति गहन विश्वास, प्रेम और सम्मान को दर्शाना चाहते थे और इसिलए दोनों के बीच स्नेह का एक क्षण जोड़ने का फैसला किया। खुदाबक्श हर कदम पर जाफिरा की रक्षा करते हुए नज़र आएंगे और ये दोनों कभी ना टूटने वाला जोड़ है। अपने अतीत की क्रूर यादों से लड़ रही जाफिरा को वह अपनी लोरी के जरिये सुलाने की कोशिश करेंगे। आमिताभ बच्चन इस सीन को दर्शाने के वक़्त काफ़ी भावुक हो गए थे और इसिलए उन्होंने स्वयं इस लोरी को गाने का फैसला किया।”
सूत्रों ने आगे बताया,”मिस्टर बच्चन इस लोरी के लिए इतने उत्सुक थे कि उन्होंने स्वयं इसे रिकॉर्ड करने का निर्णय लिया, वो भी अपने निवास स्थल पर। प्रारंभिक विचार इसे एक छोटी लोरी बनाने का था, लेकिन श्री बच्चन ने एक कदम आगे बढ़ कर इसे एक गीत बना दिया। इतना ही नहीं, वह इस लोरी को एल्बम में डालने के लिए भी आदि को ज़ोर दे रहे है।”
अमिताभ बच्चन ने कहा,”यह गीत में आपको खुदाबक्श और ज़ाफिरा के गहन रिश्ते की झलक देखने मिलेगी। इस लोरी को गाने के लिए मैं सबसे अधिक उत्साहित था क्योंकि यह ऐसा कुछ था जो आपको रोज़मर्रा गाने नहीं मिलता है। गीत के बोल बहुत सुंदर है और गाने की रचना फ़िल्म में बाप-बेटी के भावनात्मक यात्रा पर रोशनी डालते हुए नज़र आएंगे। मैं आदि से इस लोरी को एल्बम में जोड़ने के लिए कह रहा हूँ, मुझे यकीन है कि वे ऐसा ज़रूर करेंगे क्योंकि यह एक सुंदर गीत में तब्दील हो गया है।”
यह लोरी प्रतिभाशाली जोड़ी अजय-अतुल द्वारा रचित है और अमिताभ भट्टाचार्य ने दिल छू जाने वाले इस गीत के बोल लिखे है।
अमिताभ बच्चन की लोरी से कुछ लाइनें:
बाबा लौटा दे मोहे गुड़िया मोरी
अंगना का झूलना भी
इमली की डार वाली मुनिया मोरी
चांदी का पैंजना भी..

About MD MUZAMMIL

Check Also

आदिवासियों की समस्या को उजागर करती टी-सीरीज की शार्ट फिल्म ” जीना मुश्किल है यार” विश्व फ़िल्मफेस्टिवल में  

   आदिवासियों की समस्या को उजागर करती शार्ट फिल्म ‘ जीना मुश्किल है यार’ का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *