Thursday , April 25 2019
Home / देश / विधायक का चुनाव लड़ चुके सुनील रविदास अब लड़ेंगे नालंदा से सांसद का चुनाव!

विधायक का चुनाव लड़ चुके सुनील रविदास अब लड़ेंगे नालंदा से सांसद का चुनाव!

सत्यदेव नारायण आर्य राजगीर में आठ बार विधायक रह चुके हैं लेकिन 2015 विधानसभा में सत्यदेव राजगीर से हार गये थे।

1977 सत्यदेव नारायण आर्य जेएनपी

1980 सत्यदेव नारायण आर्य जेएनपी

1985 सत्यदेव नारायण आर्य जेएनपी.

1990 चन्द्रदेव प्रसाद हिमांशु सीपीआई.

1995 सत्यदेव नारायण आर्य भाजपा

2000 सत्यदेव नारायण आर्य भाजपा

2005 फरवरी सत्यदेव नारायण आर्य भाजपा

2005 अक्टूबर सत्यदेव नारायण आर्य भाजपा

2010 सत्यदेव नारायण आर्य भाजपा

बता दें 5307 वोट से सत्यदेव हारे थे जिसमें से3200 वोट पाकर सुनील चौथे स्थान पर रहे।

लेकिन उससे पहले उनको हराना बहुत मुश्किल होता था।बता दें सत्यदेव को जदयू के विधायक रवि ज्योति ने हराया था। लेकिन सत्यदेव नारायण को हराने वाला एक और सख्स था जिसका सुनिल रविदास है,बता दें सुनिल राजगीर  विधानसभा क्षेत्र से झारखंड मुक्ति मोर्चा पार्टी चुनाव लड़ चुके हैं सुनील को करीब 3200 वोट मिले थे। राजगीर के जनता का कहना है कि सत्यदेव सुनिल रविदास के वजह से ही सारे है। सुनील का 3200 वोट लाना सत्यदेव को महंगा पड़ गया। सुनील रविदास दास इस बार नालंदा लोकसभा क्षेत्र से सांसद का चुनाव लड़ रहे हैं। सुनील के गांव वालों का कहना है सुनील बहुत अच्छा नेता हैं वो हमेशा लोगों के बीच में रहते हैं।

मंहगाई और भ्रष्टाचार को भगाना है और नालंदा स्वछ रखना है तो एक बार मुझे वोट देकर देखें प्रत्याशी ने कहां हम जनता के सेवक हैं जैसे जनता कहती हैं जीतने के बाद हम वैसा ही करेंगे अगर हम जीतते हैं तो ये मेरी जीत नहीं अवाम की जीत होगी। बीजेपी-जेडीयू  जनता परेशान हो गई है। पांच सालों में भारत देश में बेरोजगारी हद से ज्यादा बढ़ गई है। नोटबंदी से सिर्फ बीजेपी नेता को फायदा हुआ है।सुनिल महागठबंधन पर  निशाना साधते हुऐ कहां महागठबंधन तो घर की पार्टी रह गई कांग्रेस और बीजेपी दोनों ने देश को लुटा है।आगे सुनिल कहते हैं एक बार नालंदा के निवासी एक बार मुझे भी मौका देकर दें।गरीब मजदूर किसान का कोई आवाज नहीं उठाता मैं वादा करता हूं एक बार नालंदा के निवासी मुझ पर भरोसा तो जताये। नालंदा में सब कुछ दुंगा जो जनता चाहती है।

सुनिल कहते हैं मैं बहुत गरीब परिवार से आता हूं sc समूदाय समाज को लेकर बहुत चिंतित रहता हूं। कांग्रेस और बीजेपी के उम्मीदवार सांसद के टिकट के लिए करोड़ों रुपयों देने के लिए तैयार रहते हैं।अब आपको तय करना है आप किसे वोट देना चाहेंगे।आप विधानसभा का  चुनाव हार चुके हैं तो सांसद का चुनाव कैसे जीतेंगे ये पुछने जाने पर सुनिल कहते हैं देखिए जब दो खिलाड़ी मैदान पर उतरेंगे तो एक की हार तो तय है।जब तक आप मैदान पर नहीं उतरेंगे आपको कैसे पता चलेगा की आप कितने पानी में है।अब तो सारा फैसला जनता करेगी जनता का फैसला का मैं दिल से समर्थन करुंगा।

आगे प्रत्याशी कहते हैं सारे नेता एक है सिर्फ चुनाव के समय में नेता अपने इलाके में दिखते हैं चुनाव को बिजनेस समझ लिया है जनता के लिए कुछ नहीं करते। सुनील नीतीश पर तंज कश्ते हुए कहा बिहार में सिर्फ औपचारिकता शराब बंदी हुई लेकिन बिहार के हर जगह में शराब मिल रही और इसमें पुलिस नेता की मिली भगत है।

About MD MUZAMMIL

Check Also

लोकसभा के तीसरे चरण का मतदान जारी

लोकसभा चुनाव आज देश में लोकसभा के तीसरे चरण का मतदान जारी है जिसमें कुल …