Friday , February 22 2019
Home / लाइफस्टाइल / विश्व कैंसर दिवस: कैंसर के सबसे ज्यादा मामले हरियाणा में दर्ज
विश्व कैंसर दिवस

विश्व कैंसर दिवस: कैंसर के सबसे ज्यादा मामले हरियाणा में दर्ज

गुरुग्राम: विश्व कैंसर दिवस से पहले, डीएलएफ5 ने होरिज़न प्लाजा में एक-दिवसीय कैंसर जाँच और जागरूकता कैंप का आयोजन किया. सौ से अधिक कार्पोरेट्स पेशेवर जो पहले और दुसरे होरिज़न में कार्य करते हैं ने इस जांच शिविर में भाग लिया और जांच करायी. डीएलएफ मोबाइल वैलनेस यूनिट को होरिज़न प्लाजा में लगाया गया था जहाँ कैंसर की शुरूआत का पता लगाने और जांच की निःशुल्क व्यवस्था की गयी थी. एक स्त्री रोग विशेषज्ञ, पैथालोजिस्ट और प्रयोगशाला तकनीशियनों सहित डॉक्टरों की एक टीम ने जाँच शिविर का आयोजन किया.

डीएलएफ 5 और डीएलएफ फाउंडेशन की एक संयुक्त पहल, इसका उद्देश्य कैंसर के बारे में जागरूकता पैदा करना और इसकी रोकथाम, पहचान, और उपचार को प्रोत्साहित करना था.

कैंसर की जांच के अलावा अन्य बुनियादी परीक्षण जैसे रक्तचाप, मधुमेह, और लीवर तंत्र की भी जांच की गयी. कैंसर जाँच शिविर का आयोजन विश्व कैंसर दिवस के तत्त्वाधान में आयोजित किया गया था जो पुरे विश्व में 4 फरवरी को मनाया जाता है. विश्व कैंसर दिवस, कैंसर के बारे में जागरूकता पैदा करने और इसकी रोकथाम, पहचान, और उपचार को प्रोत्साहित करने के लिए दुनिया भर में मनाया जाता है.

इस अवसर पर डीएलएफ फाउंडेशन के सीईओ विनय साहनी ने कहा कि  इस पहल का उद्देश्य लोगों को जानकारी प्रदान करना, संसाधनों और सेवाओं के लिए सुविधाजनक पहुंच बनाने के लिए सहायता तथा रोकथाम एवं कैंसर की जल्दी पहचान करने के लिए है. कैंसर पुरे देश में ख़तरनाक स्तर तक पहुँच गया है , जल्द से जल्द नियंत्रण और उपचार सुनिश्चित करने के लिए लोगों को कैंसर के प्राम्भिक जाँच के बारे में शिक्षित और जागरूक करने की आवश्यकता है. शिविर में भाग लेने वाले एक कॉर्पोरेट पेशेवर अनमोल गर्ग ने कहा कि ‘कैंसर एक जानलेवा बीमारी है’.

इसके इलाज की तुलना में रोकथाम बेहतर है, स्वास्थ्य जीवन सुनिश्चित करने के लिए ऐसे प्रयास ज्यादा से ज्यादा होने चाहिए. फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट (एफएमआरआई) की एक रिपोर्ट के अनुसार, कैंसर के सबसे ज्यादा मामले हरियाणा में दर्ज किए गए हैं, इसके बाद दिल्ली और उत्तर प्रदेश का नाम दर्ज है. हेल्थकेयर भारत में एक प्रमुख चिंता के रूप में उभरा है जहाँ जनसँख्या के 70 प्रतिशत लोगों तक इसकी पहुँच कम है या फिर है ही नहीं. इसके अतिरिक्त, स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली में ग्रामीण और शहरी आबादी के बीच व्यापक अंतराल की भी समस्या है.

डीएलएफ मोबाइल वेलनेस यूनिट एक बस को रि-मॉडल करके बनाया गया है. जिसमें चिकित्सकीय परिक्षण की सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं  डीएलएफ मोबाइल वेलनेस यूनिट (एमडब्लूयू) का उद्देश्य गुरुग्राम के लोगों को मधुमेह और कैंसर (सरवाइकल, स्तन, प्रोस्टेट) के परीक्षण के लिए प्रारंभिक जांच सुनिश्चित करने और इस जीवन को प्रभावित करने वाली बीमारी का पता लगाने के लिए जिसने पुरे देश को अपने आगोश में ले रखा है. नैदानिक स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना है. डीएलएफ मोबाइल वेलनेस यूनिट, गुरग्राम में कई स्थानों पर सर्विस डिलिवरी पॉइंट्स के माध्यम से समुदाय के लिए कार्य करती है मोबाइल डाईग्नोस्टिक यूनिट , विभिन्न डाईग्नोस्टिक सुविधाओं से लैस है जिसमें अनेक पैथालोजी टेस्ट की सुविधा है.

About RITESH KUMAR

Check Also

तूफानी दौरा, ग्रामीणों की समस्याओं को सुने

विकाश कुमार (बिसनुटीकर)  लोकप्रिय विधायक राजकुमार यादव ने तिसरी के कर्णपुरा, कानिचिहार,गोलगो, मनसाडीह,दुलियाकरम,दानोखुट्टा,जमामोसहित कई गांवों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *